पहला पन्ना > राज्य > छत्तीसगढ़ Print | Send to Friend | Share This 

नक्सलियों ने दंतेवाड़ा कांड पर जारी किया बयान

नक्सलियों ने दंतेवाड़ा कांड पर जारी किया बयान

रायपुर. 9 अप्रैल 2010


नक्सल प्रवक्ता गुड्सा उसेंडी, दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के रमन्ना और सचिव कोसा ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि दंतेवाड़ा के ताड़मेटला में सीआरपीएफ के 76 जवानों को उनके नेताओं की हत्या और आदिवासियों के नरसंहार के जवाब में मारा गया है.

रायपुर के दैनिक छत्तीसगढ़ को भेजी गयी एक प्रेस विज्ञप्ति में नक्सली नेताओं ने कहा है कि दंतेवाड़ा के ताड़मेटला में उनकी ओर से पीएलजीए के 300 लड़ाकों ने हिस्सा लिया था और इस हमले में उके 8 लड़ाके भी मारे गये हैं.

नक्सल नेताओं ने अपनी विज्ञप्ति में कहा है कि जवानों को आदिवासियों के कत्लेआम, महिलाओं से बलात्कार, उनके बड़े नेताओं की गिरफ्तारी और हत्या के विरोध में मारा गया है. यह बताया गया है कि यह कार्रवाई भूमकाल वर्ष पर किया गया है.

नक्सली नेताओं ने बलात्कार व आदिवासी हत्याओं का ब्यौरा भी दिया है. उन्होंने आपरेशन ग्रीनहंट का विरोध किया है और कहा है कि जिस बीएसएफ और आईटीबीटी को अपने देश की जनता के खिलाफ उतारा गया है, उन्हें देश की सीमाओं पर होना था.