पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

पूर्वोत्तर वासियों को प्रवासी बताने पर विवाद

पूर्वोत्तर वासियों को प्रवासी बताने पर विवाद

नई दिल्ली. 3 फरवरी 2015
 

भाजपा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए मंगलवार को जारी विज़न डॉक्यूमेंट को लेकर विवाद पैदा हो गया है. इस विज़न डॉक्यूमेंट में पूर्वोत्तरवासियों को प्रवासी (इमिग्रेंट्स) लिखे जाने को लेकर भाजपा विरोधियों के निशाने पर आ गई है.

कांग्रेसी नेता अजय माकन ने इसको लेकर सवाल उठाया है कि 'क्या केंद्र की सत्ता पर बैठी बीजेपी नॉर्थ ईस्ट के लोगों को भारतीय नहीं मानती है. उन्होंने कहा है कि भाजपा ने जिस तरह अपने विजन डॉक्यूमेंट में इमिग्रेंट शब्द का इस्तेमाल किया है वह उनकी सोच को दिखाता है. यह देश को बांटने जैसी बात है. कांग्रेसी नेता ने भाजपा को इन शब्दों को हटाने और जनता से माफी मांगने को भी कहा है.

दरअसल भाजपा के दस्तावेज में एक स्थान पर लिखा है पूर्वोत्तर के प्रवासियों (इमिग्रेंट्स फ्रॉम नॉर्थ-ईस्ट) को संरक्षण प्रदान किया जाएगा. इसमें पूर्वोत्तर के 'प्रवासियों' के संरक्षण के लिए सभी थानों में विशेष प्रकोष्ठ और 24 घंटे का हेल्पलाइन नंबर देने की बात की गई है.