पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >फ़िल्म > Print | Share This  

शशि कपूर को दादा साहब फालके पुरस्कार

शशि कपूर को दादा साहब फालके पुरस्कार

नई दिल्ली. 23 मार्च 2015
 

शशि कपूर

बीते जमाने के जाने-माने फिल्म अभिनेता शशि कपूर को वर्ष 2014 के दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है. शशि कपूर को 'दीवार', 'सत्यम शिवम सुंदरम', 'त्रिशूल', 'कभी-कभी' फिल्म में यादगार अभिनय के लिए जाना जाता है. शशि कपूर दादा साहेब फाल्के पुरस्कार प्राप्त करने वाले 46वें व्यक्ति होंगे.

इसी महीने अपना 77वां जन्मदिन मना चुके शशि कपूर ने 100 से अधिक फिल्मों में काम किया है. भारतीय सिनेमा में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें 46वें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा.

पुरस्कार की घोषणा होने पर उनके भतीजे अभिनेता ऋषि कपूर ने ट्वीट किया, "शशि कपूर को भारतीय सिनेमा में योगदान के लिए दादा साहेब फाल्के पुरस्कार दिया जाएगा. परिवार में अब तीन पद्मभूषण और तीन फाल्के अवार्ड हो गए हैं. इससे पहले यह सम्मान पृथ्वीराज कपूर और राज कपूर को मिल चुका है."

शशि कपूर का जन्म 1938 में हुआ और वह कपूर परिवार से आने वाले जाने-माने अभिनेता हैं. कपूर परिवार से दादा साहेब फाल्के पुरस्कार पाने वाले तीसरे अभिनेता हैं शशि कपूर.

शशि कपूर, राज कपूर और शम्मी कपूर के छोटे भाई हैं. शशि कपूर चार वर्ष की उम्र से ही अपने पिता पृथ्वीराज कपूर के पृथ्वी थियेटर के नाटकों में अभिनय करने लगे. 1940 के दशक में उन्होंने बाल कलाकार की भूमिका निभाई. बाल कलाकार के रूप में आग (1948) तथा आवारा (1951) में उनकी भूमिका की सराहना की गई. शशि कपूर ने 1950 के दशक में सहायक निर्देशक का भी काम किया.

बतौर नायक 'धर्मपुत्र' शशि कपूर की पहली फिल्म थी. वह 60, 70 और 80 के दशक तक लोकप्रिय अभिनेता बने रहे. शशि कपूर भारत के पहले ऐसे अभिनेताओं में से एक हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर काम किया. उन्होंने कई ब्रिटिश तथा अमेरिकी फिल्मों में काम कर अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की.

वर्ष 2011 में भारत सरकार ने शशि कपूर को पद्मभूषण से सम्मानित किया. उन्होंने तीन राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी प्राप्त किए हैं. सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली ने इस अवसर पर उन्हें बधाई दी.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in