पहला पन्ना >राज्य >छत्तीसगढ़ Print | Share This  

छत्तीसगढ़ में लगातार नक्सली हमले

छत्तीसगढ़ में लगातार नक्सली हमले

रायपुर. 13 अप्रैल 2015
 

नक्सल

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने पिछले 72 घंटों में तीसरा हमला किया है. नक्सलियों ने सोमवार को चौथे हमले में रायपुर से 400 किलोमीटर दूर दक्षिण में स्थित दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल-चोलनार मार्ग में एंटी लैंडमाइन को उड़ा दिया जिसमें पांच जवान शहीद हो गए, जबकि सात घायल हो गए.

दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने घटनास्थल पर मीडिया को बताया कि घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. उन्होंने कहा, "यह शक्तिशाली विस्फोट था. अनुमान है कि इसमें 50 किलो के आईईडी (इप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) का इस्तेमाल किया गया. विस्फोट से एंटी लैंडमाइन वाहन क्षतिग्रस्त हो गया और चार जवान शहीद हो गए."

बताया जाता है कि धमाके के तुरंत बाद ही नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में फौरन मोर्चा संभालते हुए पुलिस जवानों ने भी फायरिंग की. लगभग एक घंटे तक दोनों ओर से हुयी फायरिंग के बाद अंतत: नक्सलियों के पैर उखड़ गए और वे घने जंगल व पहाड़ियों की आड़ लेकर भाग खड़े हुए.

इससे पहले सशस्त्र नक्सलियों ने कांकेर जिले में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक शिविर पर हमला कर दिया, जिसमें एक जवान शहीद हो गया. पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों ने बताया कि कुछ नक्सलियों ने सोमवार सुबह कांकेर जिले के पाखनजोर इलाके के छोटबतिया वन क्षेत्र स्थित बीएसएफ के शिविर में घुसने की कोशिश की.

नक्सल विरोधी अभियान के प्रमुख आर.के.विज ने बताया, "जब नक्सलियों ने बीएसएफ के शिविर में घुसने की कोशिश की, तब सतर्क जवानों ने नक्सलियों पर गोलीबारी की". उन्होंने बताया कि हमले में जवान आर.पी. सोलंकी शहीद हो गए.

वैसे छत्तीसगढ़ में बीते 11 अप्रैल यानी शनिवार से नक्सलियों का कहर जारी है. शनिवार को नक्सलियों ने सुकमा जिले में शनिवार को नक्सलियों ने विशेष कार्य बल (एसटीएफ) के सात जवानों को मार डाला था.