पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

मसरत की गिरफ्तारी पर भड़की हिंसा

मसरत की गिरफ्तारी पर भड़की हिंसा

श्रीनगर. 15 अप्रैल 2015
 

मसरत आलम

अलगाववादी नेता मसरत आलम की गिरफ्तारी पर श्रीनगर में विरोध प्रदर्शन और हिंसा का दौर चालू हो गया है. श्रीनगर में मसरत आलम की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे अलगाववादी नेता मीरवाइज फारुक की कमान में प्रदर्शनकारियों की पुलिस से जमकर झड़प हुई है. पुलिस को इस गुट को हटाने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल करना पड़ा है.

प्रदर्शनकारी मरसत आलम की रिहाई की मांग कर रहे हैं. श्रीनगर के नोहवाटा इलाके में हुई ये झड़प, पत्थरबाजी और हिंसा अलगाववादी नेता मसरत आलम की गिरफ्तारी के बाद शुरू हुई है.

गौरतलब है कि हाल ही में पीडीपी-भाजपा सरकार द्वारा छोड़े गए मसरत आलम को पाकिस्तानी झंडा फहराने के आरोप में शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया है. फिलहाल उससे पूछताछ हो रही है. वहीं हुर्रियत नेता गिलानी अब भी नजरबंद हैं.

इस मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि मसरत आलम को फिर से जेल भेजा जाएगा और देशद्रोह के आरोपियों को माफ नहीं किया जाएगा. राजनाथ ने कहा, "हम देश को इस बात से आश्वस्त करना चाहते हैं कि सरकार देश की एकता व अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं करेगी. देशद्रोहियों को माफ नहीं किया जाएगा."