पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

आरबीआई दरों में कटौती की संभावना कम

अब किसानों को मरने नहीं देंगे: मोदी

नई दिल्ली. 23 अप्रैल 2015
 

मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेमौसम बारिश की वजह से कृषि संकट से निपटने के लिए सभी नेताओं से सामूहिक सहयोग की अपील की है. लोकसभा में मोदी ने कहा कि वह आम आदमी पार्टी (आप) की रैली में किसान की मौत से दुखी हैं. उन्होंने कहा, "अब हम अपने किसानों को नहीं मरने देंगे." 

 

गुरुवार को इस मुद्दे पर लोकसभा में मोदी ने कहा, "इस समस्या का समाधान निकालने का हमारा दृढ़ संकल्प होना चाहिए. यह समस्या यहां बहुत पहले से बनी हुई है. हमें मिलकर सोचना पड़ेगा कि हमसे गलती कहां हुई और प्रणाली में क्या कमियां थीं, जिससे यह संकट उत्पन्न हुआ." उन्होंने इसके अलावा देशभर के नेताओं से आगे आने और किसान आत्महत्या की बढ़ रही संख्या की समस्या से निपटने के लिए सुझाव साझा करने का आह्वान किया.

प्रधानमंत्री ने कहा, "पिछले कई सालों से किसानों की आत्महत्या का मामला व्यापक चिंता का विषय बना हुआ है. किसानों की जिंदगी से अधिक महत्वपूर्ण कुछ नहीं है. सरकार हर संभव तरीके से उनकी मदद सुनिश्चित करेगी."  उन्होंने कहा कि इस संकट की घड़ी में किसानों को अकेला नहीं छोड़ा जा सकता.

गौरतलब है कि राजस्थान के दौसा के निवासी गजेंद्र सिंह नामक एक किसान ने बेमौसम बारिश में फसलों के नष्ट हो जाने के बाद बुधवार को आप पार्टी की रैली में पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली थी. इस रैली का आयोजन विवादास्पद भूमि अधिग्रहण बिल के विरोध में किया गया था.