पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

गीता पढ़ें, स्वस्थ रहें: गौर

गीता पढ़ें, स्वस्थ रहें: गौर

भोपाल. 25 अप्रैल 2015. बीबीसी
 

केजरीवाल

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का मानना है कि अगर आप रोजाना गीता पढ़ें और उसके अनुसार आचरण करें तो न आपकी आंखों को कभी चश्मा चढ़ेगा और न ही कभी शुगर होगी.

गौर ने भोपाल में एक कार्यक्रम में हिंदुओं के धार्मिक ग्रंथ श्रीमद् भगवद् गीता की खूबियां गिनाते हुए ये कहा. शुक्रवार से भोपाल के लालपरेड ग्राउंड पर तीन दिन का गीता फेस्ट शुरू हुआ है. हरियाणा के गवर्नर कप्तान सिंह सोलंकी ने इसका उद्घाटन किया.

इसमें मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा देश के कई साधु संत और महामंडलेश्वर भी अपनी बात रखेंगे. कई बार अपनी रोचक, बेबाक और बेतुकी टिप्पणियों के लिए पहचाने जाने वाले गौर खुद को कृष्ण का वंशज बताते हैं तथा गीता को रोज़ाना पढ़ने का दावा करते हैं.

गौर शुक्रवार को भी पूरी धुन में थे. उन्होंने विज्ञान को चुनोती देने के अंदाज़ में तर्क दिया कि गीता वास्तव में एक जीवन शैली है.

गौर ने कहा कि वह स्वयं चूंकि गीता के बताए मार्ग पर चलकर कर्म करते हैं, इसलिए इसके फ़ायदे बता सकते हैं. गौर का दावा है कि गीता के नियमित पाठ से ब्लड प्रेशर, अपच और गैस जैसी शारीरिक परेशानियों से भी बचा जा सकता है.