पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

जनता परिवार ने मोदी सरकार को घेरा

गजेंद्र सिंह की मौत हादसा थी

नई दिल्ली. 28 अप्रैल 2015
 

gajendra singh

दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के दौसा इलाके के किसान गजेंद्र सिंह की मौत के मामले में जिलाधिकारी को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उनकी मौत खुदकुशी न होकर एक हादसा थी. इससे पहले दिल्ली पुलिस गजेंद्र सिंह की मौत को खुदकुशी बता रही थी.

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस कि रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया गया है कि यह घटना मात्र एक हादसा थी जबकि फॉरेंसिक जानकारों की माने तो गजेंद्र की मौत दम घुटने से हुई है.

रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली पुलिस का मानना है कि गजेंद्र सिंह ने सिर्फ दिखाने के लिए गमछा अपने गले में लपेटा था लेकिन उसने पेड़ पर अपना संतुलन खो दिया और फंदा उसके गले में लग गया जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

इस रिपोर्ट में पुलिस ने ये दावा भी किया है कि उसने गजेंद्र को बचाने की कोशिश की थी लेकिन सीढी उपलब्ध न होने के कारण गजेंद्र सिंह को बचाया न जा सका.

दिल्ली पुलिस की इस रिपोर्ट से आम आदमी पार्टी को बड़ी राहत मिलती दिख रही है क्योंकि ये हादसा 22 अप्रैल को दिल्ली के जंतर मंतर में हुई आप की रैली में हुआ था और आप नेताओं पर गजेंद्र सिंह को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लग रहा था.