पहला पन्ना >कला > Print | Share This  

सलमान खान को हाईकोर्ट से जमानत

सलमान खान को हाईकोर्ट से जमानत

नई दिल्ली. 9 मई 2015
 

सलमान

बंबई उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को फिल्म अभिनेता सलमान खान की पांच साल कारावास की सजा निलंबित कर दी. इसके साथ ही उन्हें नियमित जमानत मिलने का रास्ता साफ हो गया है. इससे पहले बुधवार को निचली अदालत ने सलमान को फुटपाथ पर सोते एक शख्स की गैरइरादतन हत्या का दोषी करार दिया था और महज तीन घंटे के भीतर दो दिन की जमानत भी दे दी थी.

उच्च न्यायालय में विशेष लोक अभियोजक प्रदीप घरात ने कहा कि न्यायाधीश ए.एम. थिपसे ने सलमान खान को मुंबई सत्र न्यायालय में तीस हजार रुपये का एक ताजा जमानत मुचलका भरने का निर्देश दिया.

घरात ने संवाददाताओं से कहा कि दो दिन पहले उच्च न्यायालय ने अभिनेता को अंतरिम जमानत दी थी, जिसे आगे बढ़ाया गया है. निचली अदालत के फैसले के खिलाफ अपील के लंबित रहने तक सलमान खान को हिरासत में नहीं लिया जाएगा.

उच्च न्यायालय में न्यायाधीश थिपसे ने कहा, "यह सामान्य कानून है कि जब सजा सात साल से कम होती है, तो अपील मंजूर होने के बाद वह निलंबित हो सकती है. इसलिए सजा को निलंबित किया जाएगा. अपील पर फैसला आने तक उन्हें जेल नहीं भेजा जाएगा."

थिपसे ने कहा कि बचाव पक्ष द्वारा सत्र न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली अपील में कई बिंदुओं की ओर ध्यान आकृष्ट किया गया है, जिसमें यह भी कहा गया है कि इस मामले में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304ए (लापरवाही के कारण मौत) या 304,2 (गैर इरादतन हत्या)-का कौन सा प्रावधान लगाया जाए, इस पर विचार करने की जरूरत है.

पहले वाली धारा के तहत अधिकतम दो साल की जेल की सजा का प्रावधान है, जबकि दूसरी धारा के तहत 10 साल की सजा का प्रावधान है और यही धारा अभिनेता पर लगाई गई है.