पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना > > Print | Share This  

मैगी पर शुक्रवार को सुनवाई

मैगी पर शुक्रवार को सुनवाई

मुंबई. 11 जून 2015
 

मैगी

मैगी मामले की सुनवाई बंबई उच्च न्यायालय शुक्रवार को करेगा.

स्विट्जरलैंड की खाद्य कंपनी नेस्ले की भारतीय इकाई ने गुरुवार को भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएएसएसएआई) के बाजार से मैगी को वापस लेने के फैसले की न्यायिक समीक्षा की मांग करते हुए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है.


न्यायमूर्ति वीएम कनाडे और न्यायमूर्ति बीपी कोलाबावाला ने कंपनी के वकील द्वारा इस ओर ध्यान दिलाए जाने के बाद सुनवाई शुक्रवार को मुकर्रर की. इससे पहले इस मामले को 18 जून के लिए सूचीबद्ध किया गया था.

कंपनी के वकील ने अदालत ने मामले की सुनवाई जल्द से जल्द किए जाने का अनुरोध किया, क्योंकि कंपनी को नियामक के आदेश के बाद काफी नुकसान हो रहा है.

कंपनी ने एफएएसएसएआई के पांच जून के आदेश को रद्द किए जाने की मांग की है, जिसमें कंपनी से मैगी को बाजार से हटाने का आदेश दिया गया है और जिसका कंपनी ने पालन भी किया है.

शेयर बाजारों में दी गई नियमित सूचना के मुताबिक, कंपनी ने कहा कि वह महाराष्ट्र खाद्य एवं औषधि विनियामक द्वारा छह जून को दिए गए आदेश की समीक्षा की भी मांग कर रही है.

कंपनी का तर्क है कि ये आदेश एफएएसएसएआई की धारा-34 पर खरे नहीं उतरते हैं और ये आदेश बिना अधिकार के और बिना कानूनी तरीके का पालन किए दिए गए हैं.

नेस्ले ने आदेश को अवैध बताते हुए कहा कि ये प्राकृतिक न्याय और भारतीय संविधान का उल्लंघन है.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in