पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल > Print | Share This  

रैना ने ललित मोदी के आरोप नकारे

रैना ने ललित मोदी के आरोप नकारे

नई दिल्ली. 2 जुलाई 2015
 

SURESH RAINA

क्रिकेटर सुरेश रैना ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व प्रमुख ललित मोदी द्वारा अपने ऊपर लगाए गए सट्टेबाजी और रिश्वतखोरी के आरोपों को सिरे से खारिज किया है.

रैना ने आरोपों का खंडन करने के साथ-साथ यह भी कहा कि वह अपने ऊपर झूठे आरोप लगाने के लिए मोदी के खिलाफ 'कानूनी कार्यवाही' करने पर भी विचार कर रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि मोदी ने शनिवार को कई ट्वीट कर रैना समेत तीन क्रिकेट खिलाड़ियों पर एक रिश्वत लेने का आरोप लगाते हुए दावा किया है कि रियल एस्टेट कारोबारी बाबा दीवान ने आईपीएल में खेलने वाले तीन खिलाड़ियों को रुपयों के अलावा रिश्वत के रूप में फ्लैट दिए.

रैना ने गुरुवार को एक वक्तव्य जारी कर कहा, "हाल ही में मीडिया में मेरे भ्रष्टाचार में संलिप्त होने को लेकर आई खबरों के बारे में मैं पूरी दुनिया के अपने प्रशंसकों से कहना चाहूंगा कि मैंने हमेशा नेकनियती से और पूरे जी-जान से खेला है."

रैना ने कहा, "मैं कभी भी किसी तरह के भ्रष्टाचार में संलिप्त नहीं रहा तथा मेरे ऊपर लगे सारे आरोप झूठे हैं. क्रिकेट खेलना मेरा जुनून है, चाहे किसी भी टीम के लिए मुझे खेलने का मौका मिला हो."

मोदी ने दावा किया है कि दीवान सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सट्टेबाजी के दोषी पाए गए गुरुनाथ मयप्पन और राज कुंद्रा का निकट मित्र है. उन्होंने ट्वीट पर अपनी एक चिट्ठी भी पोस्ट की, जिसे मोदी ने अक्टूबर, 2013 में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन को भेजा था और यह सारी सूचना देते हुए कार्रवाई की मांग की थी.

मोदी ने जिन तीन खिलाड़ियों पर आरोप लगाया है उनसे हालांकि अब तक बीसीसीआई या आईसीसी ने कोई पूछताछ नहीं की है. यही नहीं बीसीसीआई ने तो तीनों खिलाड़ियों को सारे आरोपों से बरी भी कर दिया है.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in