पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

फैबइंडिया ने कैमरा होने से इंकार किया

भारत-कजाकिस्तान के बीच कई समझौते

नई दिल्ली. 8 जुलाई 2015
 

modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नुरसुल्तान नजरबायेव के साथ यहां द्विपक्षीय वार्ता की और व्यापार, ऊर्जा, रक्षा तथा सुरक्षा सहयोग को बढ़ावा देने पर जोर दिया. दोनों पक्षों ने अकरोडा प्रेसिडेंसियल पैलेस में वार्ता के बाद रक्षा, रेलवे, यूरेनियम आपूर्ति, खेल तथा सजायाफ्ता कैदियों को लेकर पांच समझौते किए.

मीडिया को दिए बयान में मोदी ने कहा कि मध्य एशिया में कजाकिस्तान भारत का सबसे बड़ा आर्थिक साझीदार है, लेकिन दोनों के आर्थिक संबंध बेहद मामूली रहे हैं. आर्थिक संबंधों को एक नई ऊंचाई तक ले जाने के लिए हम साथ मिलकर काम करेंगे.

उन्होंने कहा, "हम इस बात से खुश हैं कि कजाकिस्तान से यूरेनियम खरीदने तथा हमारे असैन्य परमाणु सहयोग को बढ़ाने पर दूसरा बड़ा समझौता हो गया है. कजाकिस्तान खनिज का सबसे बड़ा उत्पादक देश है.

हाइड्रोकार्बन क्षेत्र में सहयोग पर मोदी ने कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि कजाकिस्तान के राष्ट्रपति ने भारतीय निवेश को लिए अतिरिक्त ब्लॉक देने पर विचार करने के उनके अनुरोध पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी.

प्रधानमंत्री ने कैस्पियन सागर में मंगलवार को भारत के ओवीएल तथा काजमुनाईगा के पहले खुदाई खोज का भी जिक्र किया.

मोदी ने कहा कि दोनों पक्ष विनिर्माण तथा बुनियादी ढांचे में निवेश को प्राथमिकता देने को सहमत हैं और अक्षय ऊर्जा में भी सहयोग को बढ़ावा दिया है. भारत अस्ताना में एक्सपो 2017 में वृहद स्तर पर भागीदारी करेगा.