पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

राहुल गांधी डायपर बेबी: भाजपा

पाकिस्तान ने गिराया था चीनी ड्रोन

बीजिंग. 18 जुलाई 2015
 

ड्रोन

चीन के एक सरकारी दैनिक के मुताबिक पाकिस्तान में मार गिराया गया ड्रोन चीन निर्मित है.  इससे पहले भारत ने भी ठीक यही बात कही थी लेकिन पाकिस्तान ने इसे भारतीय जासूसी ड्रोन बताया था. 

चीनी दैनिक 'पीपुल्स डेली' ने शंघाई समाचार वेबसाइट ऑब्जर्वर के हवाले से कहा कि बीजिंग में ड्रोन की पहचान चीन निर्मित 'डीजेआई फैंटम 3' के रूप में हुई है. रपट के मुताबिक, फैंटम 3 एडवांस्ड आज की तारीख में एक बेहद उन्नत व शक्तिशाली ड्रोन है, जिसकी कीमत 1,200 डॉलर है.

डीजेआई एक चीनी प्रौद्योगिकी कंपनी है जिसका मुख्यालय गुआंगडोंग के शेंजेन में है. यह हवाई फोटोग्राफी तथा वीडियोग्राफी के लिए मानवरहित विमानों का निर्माण करती है.

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने एक भारतीय जासूसी ड्रोन को मार गिराने का दावा किया था, जबकि भारत ने इस दावे को खारिज करते हुए उसे चीन निर्मित ड्रोन बताया था.

पाकिस्तान के इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस ने कहा कि ड्रोन में एक कैमरा लगा था और वह तस्वीरें ले रहा था. नियंत्रण रेखा के निकट भीमभेर सेक्टर में उसे मार गिराया गया. वहीं, भारतीय सेना के एक प्रवक्ता ने कहा, "पाक अधिकृत कश्मीर में ड्रोन के गिरने की खबर आई है. भारतीय सेना का कोई भी ड्रोन उस जगह पर नहीं गिरा."

इसके एक दिन बाद भारत ने कहा कि पाकिस्तान ने जिस ड्रोन को मार गिराने और उसके भारत का होने का दावा किया है, उसका डिजाइन चीन में निर्माण होने वाले ड्रोन जैसा है, जो बाजार में आसानी से उपलब्ध है.

विदेश सचिव एस.जयशंकर ने संवाददाताओं से कहा कि जिस ड्रोन को पाकिस्तान ने भारत का होने का दावा किया है, उसका इस्तेमाल न तो भारत में होता है और न ही देश के सुरक्षा बल इसका इस्तेमाल करते हैं.

इस्लामाबाद ने भारतीय उच्चायुक्त टी.सी.ए.राघवन को तलब किया था और भारतीय ड्रोन द्वारा उसकी हवाई सीमा का उल्लंघन बताते हुए अपना विरोध जताया था.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in