पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल > Print | Share This  

भारत ने श्रीलंका से टेस्ट सीरीज़ जीती

भारत ने श्रीलंका से टेस्ट सीरीज़ जीती

कोलंबो. 1 सितंबर 2015
 

अमिताभ

भारत ने सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर हुए तीसरे व निर्णायक टेस्ट मैच के आखिरी दिन मंगलवार को श्रीलंका क्रिकेट टीम को 117 रनों से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली. भारत ने 22 साल के अंतराल के बाद श्रीलंका को उसी के घर में टेस्ट सीरीज में हराया है.

साथ ही भारत ने 2011 के बाद पहली बार विदेश में कोई सीरीज जीती है. उसने अंतिम बार वेस्टइंडीज पर जीत हासिल की थी. भारत के नए टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में पहली सीरीज जीती है.

पहली पारी में 145 रनों की बहुमूल्य पारी खेलने वाले भारतीय सलामी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को मैन ऑफ द मैच चुना गया. मैच के बाद कोहली ने पुजारा और इस मैच में आठ विकेट लेने वाले इशांत शर्मा को आगे रहकर टीम की अगुवाई करने को कहा. इससे कोहली ने टीम प्रबंधन पर अच्छा प्रभाव छोड़ा और अपने नेतृत्व क्षमता की मिसाल पेश की.

बहरहाल, चौथी पारी में 386 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंकाई टीम कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (110) के संघर्ष के बावजूद 268 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. मैथ्यूज के साथ कुशल परेरा (70) ने भी अच्छा संघर्ष किया और छठे विकेट के लिए 135 रनों की साझेदारी निभाई.

भारत के स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने चार विकेट हासिल किए जबकि पहली पारी में पांच विकेट हासिल करने वाले इशांत शर्मा ने भी तीन अहम विकेट हासिल किए. इशांत ने इसके साथ टेस्ट मैचों में 200 विकेट पूरे किए. वह यह मुकाम हासिल करने वाले भारत के आठवें गेंदबाज हैं.

इशांत ने चायकाल के ठीक बाद मैथ्यूज को आउट किया और न सिर्फ यह मुकाम हासिल किया बल्कि भारत को जीत की ओर अग्रसर किया. मैथ्यूज ने अपनी 313 गेंदों की पारी में 13 चौके लगाए.

श्रीलंका ने चौथे दिन स्टम्प्स तक तीन विकेट पर 67 रन बनाए थे. कौशल सिल्वा 24 और मैथ्यूज 22 रनों पर नाबाद लौटे थे.

यादव ने सिल्वा (27) के रूप में भारत को दिन की पहली सफलता दिलाई. सिल्वा सोमवार को अपने स्कोर में केवल तीन रनों का इजाफा कर सके और चेतेश्वर पुजारा के हाथों लपके गए.

सिल्वा ने मैथ्यूज के साथ चौथे विकेट के लिए 54 रनों की साझेदारी की. पहले सत्र में श्रीलंका को दूसरा झटका रविचंद्रन अश्विन ने दिया. अश्विन की गेंद पर लाहिरू थिरिमान्ने (12) का कैच लोकेश राहुल ने लिया.

श्रीलंकाई टीम मैच के चौथे दिन अपनी दूसरी पारी में उपुल थरंगा, दिमुथ करुणारत्ने और दिनेश चांडिमल (18) के तीन अहम विकेट गंवा चुकी थी. थरंगा और करुणारत्ने तो खाता भी नहीं खोल सके थे.

भारत ने पहली पारी में चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 145) की मदद से 312 रन बनाए थे, जवाब में श्रीलंकाई पारी 201 रन पर ढेर हो गई थी. भारत ने इसके बाद दूसरी पारी में रोहित शर्मा (50) और अश्विन (58) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से 274 रन बनाए और श्रीलंका के सामने जीत के लिए 386 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया.

गॉल में हुआ पहला टेस्ट मैच श्रीलंका ने 63 रनों से जीत लिया था. उसके बाद भारतीय टीम पी. सारा ओवल में हुआ दूसरा टेस्ट 278 रनों से जीतने में सफल रही और सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब में तीसरा मैच जीतते ही सीरीज पर उसने 2-1 से कब्जा कर लिया.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in