पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

राहुल गांधी के निशाने पर मोदी

राहुल गांधी के निशाने पर मोदी

पटना. 26 अक्टूबर 2015
 

rahul gandhi

कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को बिहार में तीन चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर शब्दबाण चलाए.

दाल की बढ़ी कीमतों पर राहुल ने तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री तो खुद विदेशी दाल खाते हैं, मगर आम आदमी इतनी महंगी दाल कहां से खाए?

पश्चिमी चंपारण के हरनाटांड़, पूर्वी चंपारण के अरेराज तथा सीतामढ़ी के रीगा में अलग-अलग चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वादाखिलाफी और झूठे वादे करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा किसी भी चुनाव से पहले लोगों को आपस में ही लड़वाती है.

राहुल ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के झूठ को बिहार की जनता ने समझ लिया है. इस बार राज्य की जनता भाजपा के साथ नहीं जाने वाली."

दाल की बढ़ती कीमतों के लिए राहुल ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा, "मोदी जी कहते थे 'न खाने दूंगा न खाऊंगा.' मैंने सोचा नहीं था कि वह यह बात दाल के संदर्भ में कह रहे हैं. आज दाल 200 रुपये किलो हो गई है और कोई आम आदमी दाल नहीं खा पा रहा है."

उन्होंने कहा, "केंद्र सरकार गरीबों को दाल नहीं खाने दे रही है, 200 रुपये किलो दाल आम आदमी कैसे खाए? लेकिन मोदी जी खुद विदेशी दाल खाते हैं."

राहुल ने कहा, "पहले कहा जाता था कि आधी रोटी खाओ, प्रभु के गुण गाओ. फिर कहा गया कि दाल रोटी खाओ, प्रभु के गुण गाओ. अब दाल 200 रुपये प्रति किलो हो गई है. गरीब बेचारा दाल-रोटी भी कैसे खा पाएगा."

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के कुछ दोस्तों के लिए भले ही 'अच्छे दिन' आ गए हों, लेकिन किसानों और गरीबों के लिए अच्छे दिन नहीं आए.

दादरी में बेगुनाह अखलाक की पीटकर हत्या किए जाने का मुद्दा उठाते हुए राहुल ने कहा कि जहां कहीं भी सांप्रदायिक दंगा होता है, उसमें भाजपा वालों का हाथ होने की बात सामने आती है.

उन्होंने नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने बिहार की तस्वीर बदल दी और जितने भी वादे किए थे, वे पूरा किए. उनके नेतृत्व में ही बिहार सही दिशा में आगे बढ़ सकता है.