पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >महाराष्ट्र Print | Share This  

डांस बार को दो हफ्ते में लायसेंस दें: सुप्रीम कोर्ट

डांस बार को दो हफ्ते में लायसेंस दें: सुप्रीम कोर्ट

मुंबई. 25 नवंबर 2015
 

डांस बार

सर्वोच्च न्यायालय ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि बीयर बार व रेस्तरांओं में बार गर्ल के डांस के लिए जिन होटलों ने लाइसेंस के लिए अर्जी दी है, उन्हें दो सप्ताह के अंदर निपटाया जाए.

न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा व न्यायमूर्ति प्रफुल्ल सी.पंत की सर्वोच्च न्यायालय की एक पीठ ने दो सप्ताह का वक्त देते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने उसके 15 अक्टूबर के आदेश पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

न्यायालय ने कहा कि डांस के दौरान किसी तरह की अश्लीलता न हो, इसके लिए कदम उठाए जाएंगे.

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र सरकार ने बीयर बारों, भोजनालयों, रेस्तरांओं में डांस को प्रतिबंधित करने के लिए विधानसभा में एक कानून पारित किया था, जिस पर न्यायालय ने 15 अक्टूबर को रोक लगा दी थी.

न्यायालय ने कहा कि 2013 में भी सर्वोच्च न्यायालय ने डांस बार को जारी रखने का आदेश दिया था, लेकिन साल 2014 में महाराष्ट्र विधानसभा में कानून पारित कर इस पर पाबंदी लगा दी गई थी.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in