पहला पन्ना > राजनीति > न्यायपालिका Print | Send to Friend | Share This 

अमरिंदर सिंह की विधानसभा सदस्यता बहाल

अमरिंदर सिंह की विधानसभा सदस्यता बहाल

नई दिल्ली. 26 अप्रैल 2010


पंजाब के अमरिंदर सिंह की विधानसभा सदस्यता बहाल कर दी गई है. उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ ने उन्हें राहत देते हुए उनकी सदस्यता बहाल करने के आदेश दिये हैं.

ज्ञात रहे कि अमृतसर इंप्रूवमंट ट्रस्ट यानी एआईटी की 32.10 एकड़ जमीन प्लॉट के लिए छोड़ने के मामले में विधानसभा की स्पेशल कमिटी ने अमरिंदर सिंह व अन्य को दोषी ठहराया था. विधानसभा के मानसून सत्र में कमिटी ने अपनी रिपोर्ट पेश करते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव रखा था. इस प्रस्ताव को सदन ने ध्वनिमत से पास कर दिया था.

सदन ने सभी दोषियों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी कस्टोडियल इंट्रोगेशन के निर्देश स्टेट विजिलंस ब्यूरो को दिए थे. इस पर कार्रवाई करते हुए ब्यूरो ने अमरिंदर सिंह, तत्कालीन लोकल बॉडीज मिनिस्टर चौधरी जगजीत सिंह, एआईटी के चेयरमैन जुगल किशोर शर्मा और एआईटी के दो कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था. ब्यूरो ने मामले में जरूरी साक्ष्य जुटाने के लिए एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का भी गठन किया था.

यह मामला पिछली विधानसभा के दौरान कैप्टन के मुख्यमंत्रित्व काल में सामने आया था. कांग्रेस पार्टी के ही खरड़ से विधायक वीर दविंदर सिंह ने इस मामले में घोटाले का आरोप लगाते हुए इसकी जांच की मांग की थी. तब उनकी इस मांग को खारिज कर दिया गया था. बाद में कैप्टन अमरिंदर सिंह को विधानसभा से निलंबित कर दिया गया था.