पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

जेटली को इस्तीफा दे देना चाहिए: काटजू

जेटली को इस्तीफा दे देना चाहिए: काटजू

नई दिल्ली. 28 दिसंबर 2015
 

काटजू

पूर्व मुख्य न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने कहा है कि दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) में वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों को देखते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को इस्तीफा दे देना चाहिए.

काटजू ने अपनी एक फेसबुक पोस्ट में लिखा है, "जैसा कि कीर्ति आजाद ने कहा है और विकिलीक्स4इंडिया के वीडियो ने खुलासा किया है, अगर जेटली की नाक के नीचे डीडीसीए में बड़े पैमाने पर वित्तीय अनियमितताएं हुईं थीं तो ऐसे में दो संभावनाएं बनती हैं और दोनों में ही वह (जेटली) पद पर बने रहने के योग्य नहीं दिखते. "

उन्होंने दोनों संभावनाओं के बारे में बताते हुए लिखा, "पहली तो यह कि उन्हें (जेटली को) सब पता था और या तो वह इसमें शामिल हो गए या फिर आंखें मूंद लीं जिसकी वजह सिर्फ वही बता सकते हैं.

दूसरी संभावना यह है कि वह डीडीसीए में सालों तक जारी रही अनियमितताओं से सौभाग्य से अनजान बने रहे. इस हिसाब से भी वह पूरी तरह अयोग्य साबित होते हैं. दोनों ही स्थितियों में वह मंत्री पद पर बने रहने लायक नहीं हैं."

भाजपा द्वारा निलंबित सांसद कीर्ति आजाद का आरोप है कि जेटली के 13 साल तक, 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष रहने के दौरान काफी भ्रष्टाचार हुआ था. वहीं जेटली ने इस आरोप को गलत बताया है.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in