पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

भाजपा ने विधायक खरीदने से इंकार किया

भाजपा ने विधायक खरीदने से इंकार किया

देहरादून 19 मार्च 2016
 

bjp[

केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा ने शनिवार को उत्तराखंड में विधायकों की खरीद-फरोख्त के लगे आरोप को 'बकवास' बताया, जबकि कांग्रेस के नौ विधायकों के बगावत पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आरोप लगाया कि भाजपा के कई नेता रुपये भरे बैग लेकर घूमते देखे गए. इन्होंने खरीद-फरोख्त की कोशिश की है.

हरीश रावत ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का देहरादून पहुंचना और बागी विधायकों का खुलेआम यह कहना कि 'मुझे इतने करोड़ रुपये का ऑफर मिला है', इस ओर इशारा करता है कि भाजपा सरकार को अस्थिर करने के लिए हर दांव आजमा रही है.

दूसरी तरफ भाजपा ने हरीश रावत को सदन में बहुमत साबित करने की चुनौती दी है.

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने संवाददाताओं से कहा, "विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप हास्यास्पद है. कांग्रेस के विधायकों ने मुख्यमंत्री की कार्यशैली और तानाशही रवैये से त्रस्त होकर बगावत किया है." उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के जिन विधायकों ने बगावत किया है, उन्हें पैसे से खरीदा नहीं जा सकता.

विजयवर्गीय ने कहा, "अगर रावत बहुमत का दावा करते हैं तो उन्हें सदन में बहुमत सिद्ध करने की चुनौती देता हूं."

विजयवर्गीय ने कहा कि बागी कांग्रेस विधायकों पर मानहानि निरोधक कानून भी लागू नहीं होगा, क्योंकि भाजपा विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ पहले ही अविश्वास प्रस्ताव पेश कर चुकी है.

उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविद केजरीवाल ने शनिवार को भाजपा की आलोचना करते हुए कहा कि उसने उत्तराखंड में विधायकों की खुल्लमखुल्ला खरीद-फरोख्त की है. केजरीवाल ने कहा कि भाजपा सर्वाधिक भ्रष्ट पार्टी साबित हो रही है.

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, "खुल्लमखुल्ला खरीद-फरोख्त. पहले अरुणाचल प्रदेश और अब उत्तराखंड. भाजपा सबसे अधिक भ्रष्ट, देशद्रोही और सत्ता की भूखी पार्टी साबित हो रही है."