पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना > > Print | Share This  

देश का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा

देश का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा

मुंबई. 25 मार्च 2015
 

bangladesh

देश का विदेशी पूंजी भंडार 18 मार्च को समाप्त सप्ताह में 2.5394 अरब डॉलर बढ़कर 355.9472 अरब डॉलर दर्ज किया गया, जो 23,636.7 अरब रुपये के बराबर है.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा शुक्रवार को जारी साप्ताहिक आंकड़े के अनुसार, विदेशी पूंजी भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा भंडार आलोच्य सप्ताह में 2.5056 अरब डॉलर बढ़कर 332.5048 अरब डॉलर हो गया, जो 22,036.5 अरब रुपये के बराबर है.

बैंक के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को डॉलर में व्यक्त किया जाता है और इस पर भंडार में मौजूद पाउंड, स्टर्लिग, येन जैसी अंतर्राष्ट्रीय मुद्राओं के मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव का सीधा असर पड़ता है.

आलोच्य अवधि में देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 6 लाख डॉलर बढ़कर 19.3254 अरब डॉलर रहा, जो 1,326 अरब रुपये के बराबर है.

इस दौरान देश के विशेष निकासी अधिकार (एसडीआर) का मूल्य 1.21 करोड़ डॉलर बढ़कर 1.4987 अरब डॉलर दर्ज किया गया, जो 99.8 अरब रुपये के बराबर है.

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में देश के मौजूद भंडार का मूल्य आलोच्य अवधि में 2.11 करोड़ डॉलर बढ़कर 2.6183 अरब डॉलर दर्ज किया गया, जो 174.4 अरब रुपये के बराबर है.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in