पहला पन्ना >राज्य >छत्तीसगढ़ Print | Share This  

दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, सात शहीद

दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, सात शहीद

जगदलपुर. 30 मार्च 2016
 

नक्सली

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के ग्राम मेलवाडा के पास नक्सलियों द्वारा किए गए बारूदी सुरंग विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के सात जवान शहीद हो गए और दो अन्य घायल हो गए.

सीआरपीएफ के डीआईजी पी. चंद्रा ने कहा, "जवान छुट्टी से वापस लौट रहे थे. सभी जवान सादी वर्दी में थे. उनके पास हथियार भी नहीं थे. इसी बीच वे दंतेवाड़ा जिले के ग्राम मेलावाड़ा के पास नक्सलियों द्वारा किए गए बारूदी सुरंग विस्फोट की चपेट में आ गए. इसमें सात जवान शहीद हो गए और दो घायल हो गए."

सूत्रों के अनुसार, बारूदी सुरंग विस्फोट में सीआरपीएफ के सात जवान एएसआई डी. विजय राज, हेड कांस्टेबल प्रदीप तिर्की, कांस्टेबल रंजन दास, कांस्टेबल देवेन्द्र चौरसिया, कांस्टेबल नाना उदे सिंह, कांस्टेबल रूप नारायण दास और कांस्टेबल मृत्युंजय मुखर्जी शहीद हो गए. वहीं दो जवान घायल हो गए. जवान सीआरपीएफ की 230वीं बटालियन के थे.

सूत्रों के अनुसार, विस्फोट इतना जबरदस्त था कि जिस वाहन से जवान यात्रा कर रहे थे, उसके परखच्चे उड़ गए. विस्फोट से गाड़ी का इंजन अलग होकर 100 मीटर दूर जा गिरा.

राज्यपाल बलरामजी दास टंडन एवं मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दंतेवाड़ा जिले के ग्राम मेलावाड़ा के पास नक्सलियों द्वारा किए गए विस्फोट की विधानसभा में कड़ी निंदा की और जवानों की शहादत पर गहरा दुख व्यक्त किया.  इस घटना के मद्देनजर गृहमंत्री अजय चंद्राकर ने आपात बैठक बुलाई है.

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि चाहे केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान हों, चाहे भारत सीमा सुरक्षा बल, तिब्बत सीमा पुलिस (आई.टी.बी.पी.) या छत्तीसगढ़ पुलिस के जवान, ये सभी बस्तर में प्रजातंत्र को बचाने के लिए आए हैं.

उन्होंने कहा, "आज की इस घटना में हमारे इन बहादुर जवानों ने अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए शहादत दी है. मैं उनकी शहादत को सलाम करता हूं."