पहला पन्ना > > Print | Share This  

मैं मजदूर नंबर वन: मोदी

मैं मजदूर नंबर वन: मोदी

बलिया. 1 मई 2016
 

मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि वह इस देश के सभी मजदूरों को कोटि-कोटि नमन करते है. खुद को देश का मजदूर नंबर 1 बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मजदूरों के पसीने में दुनिया को जोड़ने की ताकत है.

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने मजूदरों के लिए श्रम कानूनों में आमूल-चूल परिवर्तन किया है. देश में तीस लाख से ज्यादा श्रमिक ऐसे थे, जिनमें किसी को 100 रुपये तो किसी को 15 रुपये पेंशन मिलती थी. लेकिन उनकी सरकार ने पेंशन की न्यूनतम राशि 1000 रुपये कर दी है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वाचल के लोगों ने उन्हें प्यार दिया है और इस कर्ज को वह यहां विकास के जरिए चुकाएंगे. इस दौरान मोदी ने सब्सिडी छोड़ने वालों की प्रशंसा भी की. उन्होंने कहा कि 11000,000 से ज्यादा परिवारों ने सब्सिडी छोड़ी है और उनका सम्मान किया जाना चाहिए.

मोदी ने कहा, "मैं बलिया में चुनाव का बिगुल बजाने नहीं आया हूं. बलिया इसलिए आया हूं कि यहां सबसे कम परिवारों को रसोई गैस मिलती है और हमें यहां गैस कनेक्शन की संख्या बढ़ानी है."

उन्होंने कहा, "मैं राजनीतिक पंडितों को बताना चाहता हूं कि वो दिन याद करें, जब कोई सांसद बनता था तो उसे एक साल में 25 गैस के कूपन दिए जाते थे और वे 25 परिवारों को गैस दिलाते थे."

उन्होंने कहा कि कई बार लोग उस कूपन को हासिल करने के लिए 10-15 हजार रुपये भी खर्च करते थे और जरूरतमदों को गैस की सुविधा नहीं मिल पाती थी. उन्होंने कहा कि तीन साल के भीतर पांच करोड़ गैस कनेक्शन देश भर में गरीब परिवारों तक पहुंचाने हैं.