पहला पन्ना > > Print | Share This  

द. अफ्रीका की यात्रा तीर्थ जैसी: मोदी

द. अफ्रीका की यात्रा तीर्थ जैसी: मोदी

पीटरमारित्जबर्ग. 9 जुलाई 2016
 

मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका की उनकी यात्रा एक तीर्थयात्रा के समान है, क्योंकि उन्होंने उन स्थलों का दौरा किया है, जो भारतीय इतिहास व महात्मा गांधी के जीवन के लिहाज से महत्वपूर्ण है.

ट्रेन यात्रा करने के बाद पीटरमारित्जबर्ग रेलवे स्टेशन पर मोदी ने संवाददाताओं से कहा, "यह दौरा एक तीर्थयात्रा के समान है, क्योंकि मैंने उन स्थलों का दौरा किया जो भारतीय इतिहास व महात्मा गांधी के जीवन के लिहाज से महत्वपूर्ण हैं."

मोदी पेंट्रिक रेलवे स्टेशन पर रेलगाड़ी में सवार हुए और क्वाजुलु-नताल प्रांत की राजधानी पीटरमारित्जबर्ग पहुंचे. इसी स्टेशन पर नस्लभेद के कारण महात्मा गांधी को सन् 1893 में एक रेलगाड़ी से बाहर फेंक दिया गया था.

उन्होंने कहा, "यह वही जगह है, जहां से मोहनदास (करमचंद गांधी) ने महात्मा बनने का सफर शुरू किया."

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, "प्रधानमंत्री ने पेंट्रिक रेलवे स्टेशन से पीटरमारित्जबर्ग की यात्रा की. इसी रेलगाड़ी से कभी महात्मा गांधी ने यात्रा की थी."

गौरतलब है कि सात जून, 1893 की सर्द रात में गांधी एक मुकदमे के सिलसिले में प्रिटोरिया जा रहे थे, जिस दौरान कंडक्टर ने उन्हें नस्लभेद के कारण तीसरी श्रेणी के डिब्बे में यात्रा करने को कहा था.

जब गांधी ने ऐसा करने से मना किया और कहा कि उनके पास प्रथम श्रेणी का वैध टिकट है, तो उन्हें रेलगाड़ी से बाहर फेंक दिया गया था.