पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना > > Print | Share This  

मनसे के निशाने पर पाकिस्तानी कलाकार

मनसे के निशाने पर पाकिस्तानी कलाकार

मुंबई. 23 सितंबर 2016. बीबीसी
 

राज ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) की पाकिस्तानी कलाकारों और अभिनेताओं को 48 घंटे के अंदर भारत छोड़ने की धमकी के बाद अब इसका असर बॉलीवुड पर दिखने लगा है.

जहां इस धमकी के बाद बॉलीवुड सकते में है वहीं मनसे ने निर्माता निर्देशक करण जौहर की आने वाली फ़िल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' और शाहरुख ख़ान की फिल्म 'रईस' को भी भारत में रिलीज़ न होने देने की धमकी दी है. फ़वाद ख़ान ऐ दिल है मुश्किल फ़िल्म में नज़र आएंगे.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की महासचिव शालिनी ठाकरे ने कहा है, '' भारत में जितनी भी फ़िल्मे रिलीज़ हो रही हैं जिसमें पाकिस्तानी कलाकार अभिनय करेंगे उसे हम रिलीज़ नहीं होने देंगे और जिन फ़िल्मों की शूटिंग चल रही है वहां हम जा कर मना करेंगे और अगर वे लोग नहीं मानेंगे तो हमें इस पर कड़ा रूख अपनाना होगा. ''

'ऐ दिल है मुश्किल' में फ़वाद ख़ान के साथ इमरान अब्बास छोटे से रोल में नज़र आएंगे.

माहिरा ख़ान रईस में नज़र आएंगी. फ़िल्म 'रईस' में माहिरा ख़ान शाहरुख़ ख़ान के साथ दिखाई देंगी.

इन अदाकारों के अलावा बॉलीवुड में गायक आतिफ़ असलम, राहत फ़तेह अली ख़ान, अदनान सामी, अभिनेता जावेद शेख़, अली जफ़र और इमरान अब्बास भी सक्रिय हैं.

इससे पहले शिवसेना ने गुलाम अली के भारत में आयोजित कार्यक्रम का विरोध किया था.

वर्ष 2015 के अक्टूबर महीने में एमएनएस ने पाकिस्तानी अदाकारा माहिरा ख़ान की फिल्म 'बिन रोए' की महाराष्ट्र में स्क्रीनिंग रोक दी थी.

आतिफ़ असलम कई हिंदी फ़िल्मों में गाने गा चुके हैं.

मनसे नेता शालिनी ठाकरे ने इन कलाकारों को हिंदी फिल्मों में काम देने निर्माताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा , "पाकिस्तान हमारे देश पर हमले का मंसूबा पाल रहा है. इसलिए इन कलाकरों की फ़िल्मों को किसी भी कीमत पर रिलीज़ नहीं होने दिया जाएगा.''

बॉलीवुड फिल्मों में पाकिस्तानी कलाकारों का अभिनय करना कोई नई बात नहीं है.

पाकिस्तान के अभिनेता और अभिनेत्रियां अस्सी के दशक से बॉलीवुड में अपनी किस्मत आज़माते रहे हैं.

मनसे पाकिस्तानी कलाकरों के कार्यक्रमों का भी विरोध कर चुकी है. इनमें सलमा आगा, मोहसिन ख़ान और ज़ेबा बख़्तियार के नामचीन कलाकार के नाम शुमार हैं.

फवाद ख़ान और माहिरा ख़ान के अलावा पाकिस्तान में बेहद लोकप्रिय अभिनेत्री शहरोज़ सजवरी, मवारा हॉकेन भी बॉलीवुड में काम कर रही हैं.

भारतीय फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़ी नामचीन हस्तियां महेश भट्ट और रज़ा मुराद का मानना है, "अगर बीच में ही हम कलाकारों का देश निकाला कर देंगे तो इससे पाकिस्तान का कुछ नहीं बिगड़ेगा. बल्कि यहां भी हमारा ही नुकसान है."

 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in