पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

30 दिसंबर के बाद सब ठीक होगा: मोदी

30 दिसंबर के बाद सब ठीक होगा: मोदी

मुंबई. 24 दिसंबर 2016. बीबीसी
 

modi

नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना आक्रामक रूख़ क़ायम रखा हुआ है.

नोटबंदी के अपने एलान के 46वें दिन प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बेईमान लोग नोटबंदी के अभियान को नाक़ाम बनाने की भरसक कोशिश करेंगे लेकिन देश की 125 करोड़ जनता के सामने ऐसा नहीं हो पाएगा.

शनिवार को महाराष्ट्र के दौरे पर गए मोदी ने दावा किया कि उनके 8 नवंबर को भ्रष्टाचार पर किए गए बड़े हमले से कालेधन वालों में हलचल है लेकिन देश की जनता ने उनका साथ दिया है. मोदी ने कहा कि 30 दिसंबर के बाद सब ठीक हो जाएगा.

मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज स्मारक के शिलान्यास के बाद बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बेईमान लोग सही रास्ते पर लौट आएं, टैक्स दें, सरकार उन्हें फांसी पर नहीं चढ़ाएगी.

लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की नोटबंदी के बारे में किए गए दावों का राहुल गांधी ने एक सिरे से खंडन किया. हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में एक रैली में उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फ़ैसला बिना किसी तैयारी के लिया गया जिसका सबसे ज़्यादा असर कालेधन वालों पर नहीं, बल्कि ग़रीब और किसान वर्ग के लोगों पर पड़ा है.

इस रैली में राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी से 'भ्रष्टाचार के आरोपों' पर सफ़ाई पेश करने को कहा. उन्होंने कहा कि आज देश 50 कंपनियों के पिंजरे में कैद है और देश का 60 फ़ीसदी पैसा एक प्रतिशत लोगों के हाथों में है लेकिन सरकार इस बात को नहीं समझ रही.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in