पहला पन्ना > > Print | Share This  

दुष्कर्म मामले में आसाराम को आजीवन कैद

दुष्कर्म मामले में आसाराम को आजीवन कैद

जोधपुर. 25 अप्रैल 2018
 

आसाराम

नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार करने के मामले में जोधपुर न्यायालय ने कथावाचक आसाराम को दोषी करार दिया गया है और उन्हे उम्रकैद की सज़ा दी गयी है. मामले में आसाराम के सह आरोपी उसके छिंदवाड़ा स्थित आश्रम की वॉर्डन शिल्पी और सेवादार शरद को 20-20 साल की सजा सुनाई गई है.

अदालत ने इस मामले में कुल पांच आरोपियों मे से बाकी दो आरोपियों को बरी कर दिया है. जोधपुर जेल में ही लगी विशेष अदालत ने आसाराम को IPC की धारा 342 में एक साल की सज़ा, IPC की धारा 376/4 में 10 साल की सज़ा और अलावा धारा 376 D के तहत उम्रक़ैद की सजा सुनाई.

इसके अलावा आसाराम को धारा 376/2F में उम्रक़ैद के साथ ही जुवेनाइल जस्टिस ऐक्ट के तहत 6 महीने की सजा सुनाई गई.

इस फैसले से पीड़िता के पिता ने सतोष जताते हुए कहा कि अदालत के फैसले से खुश हूं. उन्‍होंने कहा कि बता नहीं सकता कि इस दौरान मैं किस तकलीफों से गुजरा हूं. उन्होने अपना साथ देने वालों का शुक्रिया अदा किया.

उल्लेखनीय है कि इस मामले के अधिकांश गवाहों पर अलग अलग समय पर गोलियां चलाई गईं थीं जिनमें से 3 की मृत्यु हो गई थी.