पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

माफ़ी की वह माँग तो भाव-विभोर करने वाली थी

संघर्ष को रचनात्मकता देने वाले अनूठे जॉर्

पूर्वोत्तर व कश्मीर में घिरी केंद्र सरकार

अंतिम सांसे लेता वामपंथ

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

पूर्वोत्तर व कश्मीर में घिरी केंद्र सरकार

भीड़ के ढांचे का सच खुल चुका

रिकॉर्ड फसल लेकिन किसान बेहाल

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

भारत-चीन के सीमा तनाव पर कांग्रेस के सवाल

भारत-चीन के सीमा तनाव पर कांग्रेस के सवाल

16 जून 2020. बीबीसी
 

कांग्रेस

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प के मामले में विपक्ष ने सरकार से जानकारी माँगी है गलवान घाटी में सोमवार की रात हुई हिंसक झ़ड़प के बारे में जानकारी सामने आने के बाद कांग्रेस पार्टी और विपक्षी दलों के विभिन्न राजनेताओं की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट करके रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से जवाब मांगा है. सुरजेवाला ने ट्वीट में लिखा है, "चौंकाने वाला, भयावह और अस्वीकार्य. क्या रक्षा मंत्री पुष्टि करेंगे?"

इसके बाद कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से सुरजेवाला का बयान ट्वीट किया गया है जिसमें इस घटना की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से चार सवाल पूछे गए हैं.

कांग्रेस ने पूछा है कि 'इस घटना में कितने जवानों की मौत हुई है और कितने घायल हुए हैं? सोमवार की रात हुई घटना का बयान मंगलवार को क्यों जारी किया गया? पीएम मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सामने आकर क्यों नहीं बताते कि चीन ने कितनी ज़मीन पर अवैध क़ब्ज़ा किया है और राष्ट्रीय सुरक्षा एवं क्षेत्रीय अखंडता की इस गंभीर स्थिति से निपटने के लिए भारत सरकार की क्या नीति है?'

इस बारे में भारतीय सेना में लेफ़्टिनेंट जनरल रहे एचएस पनाग ने ट्वीट करके मारे गए अफ़सर और जवान को सलामी दी है. इसके अलावा उन्होंने लिखा है कि वो इस घटना से बेहद दुखी हैं क्योंकि बीते चार सप्ताह से चीन के इरादे साफ़ चेतावनी दे रहे थे, जिसके बावजूद स्थिति यहां तक पहुंच आई है.

पंजाब के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया हैं कि भारत सरकार चीन के ख़िलाफ़ कड़े क़दम उठाए. उन्होंने लिखा, "हमारी ओर से कमज़ोरी का हर निशान, चीन की प्रतिक्रिया को और युद्धकारी बनाएगा. मैं अपने बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए राष्ट्र के साथ शामिल हूं. राष्ट्र दुख की घड़ी में आपके साथ खड़ा है."


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in