पहला पन्ना > मुद्दा > बिहार Print | Send to Friend | Share This 

दिमागी सूजन से 20 बच्चों की मौत

दिमागी सूजन से 20 बच्चों की मौत

मुजफ्फरपुर. 11 जून 2010


बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में इन्सेफेलाइटिस से मिलती-जुलती बीमारी से पिछले 48 घंटों में 20 बच्चों की मौत हो गई है. मरने वाले बच्चों को तेज बुखार और बेहोशी के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

जिले के चिकित्सा अधिकारियों के अनुसार लगभग एक सप्ताह से जिले के विभिन्न अस्पतालों में बीमार बच्चे आ रहे हैं और उनकी बीमारी की गंभीरता को देखते हुए उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ रहा है. जिले के विभिन्न प्राइवेट अस्पतालों में भी बड़ी संख्या में बीमार बच्चे भर्ती हैं. कांटी बारमदपुर इलाके में यह बीमारी महामारी की तरह फैली हुई है.

मुजफ्फरपुर के सिविल सर्जन एपी सिंह के अनुसार जिले के सभी अस्पतालों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. उन्होंने बच्चों को इन्सेफेलाइटिस होने से इंकार नहीं किया है लेकिन उनका कहना था कि जांच के बाद ही इस बारे में कुछ कहा जा सकता है. हालांकि बीमार बच्चों में जो लक्षण देखे गये हैं, वे इन्सेफेलाइटिस से मिलते-जुलते हैं. इस बीमारी में दिमाग में सूजन की वजह से मौत तक हो सकती है.

इधर बच्चों की लगातार मौत के बाद राज्य स्वास्थ्य समिति की एक टीम पटना से यहां पहुंची और उसने केजरीवाल मातृ सदन समेत दूसरे अस्पतालों में मरीजों का हालचाल जाना. टीम ने इस बात पर गहरा क्षोभ जताया कि इतने बच्चों की मौत के बाद भी जिले के अधिकांश स्वास्थ्य अधिकारियों ने इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया. समिति ने इस बात पर भी आक्रोश जताया कि इस मामले में एक भी मरीज का सिरम सैंपल एकत्र नहीं किया गया है.

ज्ञात रहे कि इस बीमारी के कारण उत्तरप्रदेश के गोरखपुर बस्ती अंचल में हर साल 500 से अधिक बच्चे मौत के मुंह में समा जाते हैं. ऐसे में बिहार के इस इलाके में इस बीमारी के कारण लोग दहशत में हैं.