पहला पन्ना > मुद्दा > पश्चिम बंगाल Print | Send to Friend | Share This 

माओवादियों के लिये स्पेशल सरकारी पैकेज

माओवादियों के लिये स्पेशल सरकारी पैकेज

कोलकाता. 18 जून 2010


माओवादियों को मुख्यधारा में लाने के लिये पश्चिम बंगाल सरकार ने स्पेशल पैकेज की घोषणा की है. माओवादियों के लिए यह विशेष पुनर्वास स्कीम केंद्र प्रयोजित होगी, जिसे पश्चिम बंगाल सरकार लागू करायेगी. राज्य के मुख्य सचिव अर्धेद्नु सेन ने पत्रकारों को बताया कि यह पुनर्वास पैकेज उन माओवादियों के लिए है, जो हथियारों के साथ आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा में लौटना चाहते हैं.

maoist


उन्होंने मामूली अपराध के मामले में पुलिस कस्टडी में बंद नक्सलियों पर पुनर्विचार कर जमानत पर रिहा करने की बात भी कही. मुक्त करने के बाद उन पर कड़ी निगाह रखी जायेगी. उनका रवैया ठीक-ठाक रहा तो सरकार उसके पुनर्वास में हर संभव मदद करेगी.श्री सेन ने बताया कि कुछ नक्सली आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा में लौटने के इच्छुक हैं. इस संबंध में राज्य के सभी जिलों को आवश्यक निर्देश दिये गये हैं.

उन्होंने कहा कि स्पेशल पैकेज के मुद्दे पर पश्चिमी मिदनापुर में डीएम के अधीन एक स्पेशल सेल का गठन किया जायेगा. यह सेल जिले में विशेष पुनर्वास स्कीम के क्रियान्वयन का काम करेगी. इसके अलावा बांकुड़ा और पुरुलिया जिलों में इस काम के लिए विशेष अधिकारी नियुक्त किये जायेंगे.

श्री सेन ने पिछड़े और नक्सल प्रभावित इलाकों के विकास पर विशेष जोर देने की बात कही. इन क्षेत्रों के सामाजिक-आर्थिक विषमताओं को दूर करने के लिए हर योजनाओं को सही तरीके से लागू किया जायेगा.

ज्ञात रहे कि इससे पहले झारखंड और छत्तीसगढ़ सरकार ने भी नक्सलियों के आत्मसमर्पण पर पुनर्वास पैकेज की घोषणा की थी.