पहला पन्ना > राजनीति > दिल्ली Print | Send to Friend | Share This 

एंडरसन को मैंने नहीं भेजा- अर्जुन सिंह

एंडरसन को मैंने नहीं भेजा- अर्जुन सिंह

नई दिल्ली. 19 जून 2010


भोपाल गैस कांड के आरोपी और यूनियन कार्बाइड के पूर्व प्रमुख वॉरेन एंडरसन को भारत से जाने देने के मामले में अर्जुन सिंह ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि उनका एंडरसन की रिहाई से कोई लेना−देना नहीं है. एक अखबार को दिए इंटरव्यू में मध्य प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह ने कहा है कि उन्हें बेवजह विवाद में घसीटा जा रहा है.

arjun singh


अखबार को दिये इंटरव्यू में अर्जुन सिंह ने कहा कि वह अपनी जीवनी लिख रहे हैं, जिसमें उन्होंने एंडरसन के विवाद पर विस्तार से लिखा है.

ज्ञात रहे कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के खिलाफ भोपाल की एक स्थानीय अदालत ने वारेन एंडसरन को गलत तरीके से देश से जाने के आरोप में आपराधिक केस दर्ज किया है. अर्जुन सिंह के खिलाफ मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट आर जी सिंह के कोर्ट में दायर याचिका में वकील फुरखान खान ने अदालत से श्री सिंह के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करने की अपील की. कोर्ट ने इस मामले में बहस के लिए 29 जून की तिथि निर्धारित की है.

इससे पहले कांग्रेस पार्टी भी अर्जुन सिंह को मामले में घेर चुकी है. कांग्रेस पार्टी ने भी यह माना था कि भोपाल गैस कांड के मुख्य आरोपी वॉरेन एंडरसन को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह ने जेल से रिहा कर सरकारी विमान से दिल्ली पहुंचाया. कांग्रेस का कहना था कि उसके पास इसके सिवा और कोई रास्ता नहीं था.वरिष्ठ नेता प्रणव मुखर्जी ने इसकी जिम्मेदारी अर्जुन सिंह पर डाली है.

प्रणब मुखर्जी के मुताबिक तब के मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह ने कहा कि घटना के बाद लोगों में बहुत गुस्सा है और एंडरसन को भोपाल से बाहर भेजना बहुत जरूरी है. प्रणब मुखर्जी ने कहा कि एंडरसन को बाहर भेजने का फैसला अर्जुन सिंह का था, इसमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की कोई भूमिका नहीं थी.