पहला पन्ना > राजनीति > बिहार Print | Send to Friend | Share This 

नितीश अपना हाथ भी काट लें – लालू

नितीश अपना हाथ भी काट लें – लालू

पटना. 19 जून 2010


बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार द्वारा गुजरात सरकार द्वारा कोसी बाढ़ के समय दी सहायता राशि लौटा देने से राजनीति हल्कों में बयानबाजी तेज़ हो गई है. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू यादव ने इस मामले में चुटकी लेते हुए कहा है कि अगर नितीश कुमार को नरेंद्र मोदी से इतनी नफरत है तो वो मोदी से मिलाए गए अपने उस हाथ को क्यों नहीं काट लेते? इधर भारतीय जनता पार्टी ने इस कदम पर अपनी नाखुशी जताते हुए कहा है कि नितीश कुमार ने ये ठीक नहीं किया.

भाजपा प्रवक्ता निर्मला सीतारमण ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि दिया गया धन बिहार के बाढ़ प्रभावितों की मुश्किलों के प्रति गुजरात की जनता की एकजुटता और समानुभूति का प्रतीक था. उन्होंने नितीश कुमार से सवाल भी किया कि क्या उन्होंने धन के साथ-साथ गुजरात सरकार द्वारा दर्शायी गई समानुभूति, एकजुटता और भाईचारे की भावना को भी लौटाया है? उन्होंने कहा कि बिहार के स्थानीय अखबारों में आए विज्ञापन की बात को लेकर सहायता राशि लौटाना अनुचित है.

इधर कांग्रेस ने नितीश कुमार के द्वारा धन लौटाए जाने को नौटंकी करार दिया है. केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री सुबोधकांत सहाय ने इसे गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और नितीश कुमार के बीच की चुनावी नौटंकी बताया. उनका कहना था कि जब चुनाव का समय नज़दीक आया है तो भाजपा और जदयू को यह समझ में आ रहा है कि उनका वोट बैंक गड़बड़ा रहा है.

संबंधित खबर:  नीतीश कुमार ने लौटायी गुजरात की सहायता राशि