पहला पन्ना > राजनीति > आंध्र-प्रदेश Print | Send to Friend | Share This 

रेड्डी को कांग्रेस ने दी कार्रवाई की चेतावनी

रेड्डी को कांग्रेस ने दी कार्रवाई की चेतावनी

नई दिल्ली. 6 जुलाई 2010


कांग्रेस सांसद वाईएस जगनमोहन रेड्डी और कांग्रेस पार्टी के बीच तनाव कम होता नज़र नहीं आता. रेड्डी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को खुली चुनौती देते हुए विवादों में फंसी यात्रा गुरुवार से फिर शुरू करने का ऐलान लिया है. दूसरी ओर रेड्डी को पार्टी ने अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी देते हुए कहा है कि सभी सच्चे, प्रतिबद्ध और निष्ठावान कांग्रेसजन को पार्टी धर्म और पार्टी अनुशासन की लक्ष्मण रेखा का आवश्यक रूप से पालन करना चाहिए.
जगनमोहन रेड्डी

ज्ञात रहे कि अपनी पिता वाईएस राजशेखर रेड्डी की मौत के बाद मुख्यमंत्री के दावेदार जगमोहन रेड्डी पार्टी से लगातार नाराज चल रहे हैं. अपने पिता की हेलिकाप्टर दुर्घटना में मौत के बाद उनके शोक में आत्महत्या करने वालों के परिजनों से मिलने के लिये जगमोहन ने 28 मई को वारंगल से ओडरपु यात्रा शुरू की थी. पार्टी ने उन्हें यह यात्रा नहीं करने की सलाह दी. लेकिन जगमोहन इसके लिये तैयार नहीं हुए. हालांकि तेलंगाना मुद्दे पर राज्य में हिंसा शुरु होने के बाद उन्होंने अपनी यात्रा स्थगित कर दी थी.

बाद में 29 जून को जगमोहन ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करते हुए यात्रा जारी रखने की अनुमति मांगी थी. लेकिन सोनिया गांधी ने ऐसा करने के बजाय उन्हें सुझाव दिया था कि वे प्रभावित परिवारों को एक जगह बुलाकर उनसे मुलाकात कर लें और उन्हें आर्थिक सहायता दें.

इस मुलाकात के बाद सांसद जगमोहन रेड्डी ने जनता के नाम एक खुला पत्र लिखकर, विस्तार से सोनिया गांधी से मुलाकात का विवरण दिया और यात्रा पर खड़े हुए विवाद पर अफसोस जताया और यात्रा जारी रखने की घोषणा की.

जगमोहन के इस रवैय्ये से नाराज कांग्रेस प्रवक्ता ने मंगलवार को साफ किया है कि रेड्डी ने अगर पार्टी आलाकमान की बात नहीं मानी तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है. पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सभी सच्चे, प्रतिबद्ध और निष्ठावान कांग्रेसजन को पार्टी धर्म और पार्टी अनुशासन की लक्ष्मण रेखा का आवश्यक रूप से पालन करना चाहिए. ऐसा नहीं करने पर कई ऐसे नतीजे भुगतने पड़ेंगे जिनसे बचा जा सकता है. कानून की तरह पार्टी अनुशासन भी व्यक्तियों के बीच भेदभाव नहीं करता.