पहला पन्ना > मुद्दा > आतंकवाद Print | Send to Friend | Share This 

अफज़ल गुरु की स्थानांतरण याचिका खारिज

अफज़ल गुरु की स्थानांतरण याचिका खारिज

नई दिल्ली. 7 जुलाई 2010

संसद पर हुए आतंकी हमले के प्रमुख आरोपी मोहम्मद अफज़ल गुरु द्वारा जम्मू-कश्मीर स्थित केंद्रीय कारागार में भेजे जाने की स्थानांतरण याचिका खारिज कर दी गई है. अफज़ल की अर्जी ठुकराने के पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया जा रहा है. अफज़ल गुरु ने स्थानांतरण याचिका दाखिल कर अर्जी दी थी कि उसे तिहाड़ जेल से निकाल कर जम्मू कश्मीर स्थित केंद्रीय कारागार में भेज दिया जाए. इसके पीछे उसकी यह दलील दी थी कि इससे उसका परिवार उससे मिल पाएगा.

फज़ल गुरु ने ये याचिका उच्चतम न्यायालय में दाखिल की थी, जिसके बाद उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार को इस मुद्दे पर फैसला लेने को कहा था. लेकिन केंद्र सरकार ने सुरक्षा कारणों से उसकी याचिका को खारिज़ कर दिया. उल्लेखनीय है कि 13 दिसंबर 2001 को संसद पर हुए हमले के लिए दोषी ठहराते हुए सत्र अदालत ने 18 दिसंबर 2002 को अफजल को मौत की सजा सुनाई थी. इसके बाद अक्टूबर 2003 को दिल्ली हाई कोर्ट और अगस्त 2005 को उच्चतम न्यायालय ने भी उसकी मौत की सजा बरकरार रखी थी. अफजल गुरु ने इसके बाद राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दी थी, जिस पर फैसला लंबित है.