पहला पन्ना > राज्य > जम्मू कश्मीर Print | Send to Friend | Share This 

कश्मीर में 14 मौतों की स्वतंत्र जाँच

कश्मीर में 14 मौतों की स्वतंत्र जाँच

श्रीनगर 13 जुलाई 2010

जम्मू और कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला  द्वारा बुलाई गई बहुदलीय बैठक में राज्य के अस्थिर हालात पर चर्चा की गई. बैठक में यह तय किया गया कि राज्य में हाल की हिंसा के दौरान सुरक्षा बलों द्वारा की गई गोलीबारी में हुई 14 नागरिकों की मौत की स्वतंत्र जांच कराई जाएगी. इस बैठक में राज्य के विपक्षी राजनीतिक दलों पीपुल्स डेमोक्रैटिक पार्टी (पीडीपी) और पैंथर्स पार्टी का कोई भी राजनेता नहीं शामिल हुआ. इस बैठक में कश्मीर के वर्तमान संकट से निपटने के लिए एक प्रस्ताव भी पारित किया गया और सभी राजनीतिक पार्टियों से अपील की गई कि वे राज्य में शांति बहाल करने में मदद करें.

इस बैठक के बाद राज्य के मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए बताया कि बैठक में विभिन्न पार्टियों के प्रतिनिधियों ने राज्य में कानून-व्यवस्था की वर्तमान स्थिति पर अपने विचार व्यक्त किए. उन्होंने बताया कि बैठक में सभी नेताओं ने इस समस्या के आर्थिक, राजनीतिक और मानवीय पहलुओं पर चर्चा की. बैठक में शामिल नेताओं ने केंद्र सरकार से भी आग्रह किया कि संवाद के जरिए शांति प्रक्रिया को मजबूत किया जाए.

उल्लेखनीय है कि पीपुल्स डेमोक्रैटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने इस बैठक का पुरजोर विरोध करते हुए कहा था कि सर्वदलीय बैठक केवल नुकसान की भरपाई करने और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की आंख में धूल झोंकने का प्रयास है. उन्होंने कहा था कि इस बैठक से कोई मसला हल नहीं होगा इसीलिए इसमें शामिल होने का कोई फायदा नहीं है. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी महबूबा से बात कर इस बैठक में शामिल होने का अनुरोध किया था जिसे भी उन्होंने ठुकरा दिया.