पहला पन्ना > राजनीति > अर्थ-बेअर्थ Print | Send to Friend | Share This 

रुपये के नए प्रतीक चिह्न को मंजूरी

रुपये के नए प्रतीक चिह्न को मंजूरी

नई दिल्ली. 15 जुलाई 2010


रुपये के नए प्रतीक चिह्न को मंत्रिमंडल ने आज अपनी मंजूरी दे दी. मंजूरी मिलने के साथ ही रुपया भी अमेरिकी डॉलर, ब्रिटिश पौंड जैसी कुछ अपनी विशेष पहचान रखने वाली मुद्राओं की सूची में शामिल हो गया। कैबिनेट ने आईआईटी मुंबई के छात्र डी उदय कुमार के डिजाइन को मंजूरी दी है. नया प्रतीक चिन्ह रोमन लिपि के 'आर' और देवनगरी लिप‍ि के 'र' को मिलाकर बनाया गया है.
रुपये का प्रतीक चिह्न

इस साल बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा था कि आगामी साल में हम रुपये का चिन्ह तय करेंगे. इसके साथ ही रुपया अमेरिकी डालर, ब्रिटिश पौंड स्टर्लिंग, यूरो और जापान के येन की उस विशेष सूची में शामिल हो जाएगा जिनकी अपनी एक अलग पहचान है.

वित्त मंत्रालय ने पिछले साल रुपये के डिजाइन के बारे में आम जनता से सुझाव मांगे थे.जिसके बाद देश भर से रुपये का प्रतीक चिन्ह बना कर भेजा गया था.सूत्रों के अनुसार पहले दौर में 5 चिन्हों को मंजूरी मिली थी. बाद में उदय कुमार के चिन्ह पर मुहर लगाई गयी. डिज़ाईनर को ढाई लाख के इनाम के साथ प्रमाण पत्र भी जारी किया जाएगा. इसके अतिरिक्त अन्य पाँच प्रविष्टियों को भी सांत्वना पुरस्कार के रूप में पच्चीस-पचीस हजार रुपये दिए जायेंगे. विजेताओं का चयन एक 7 सदस्यीय जूरी ने किया, जिसमें कला संस्थानों से सर जे जे इंस्टीट्यूट ऑफ एप्लाइड आर्ट, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, ललित कला अकादमी, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला और संस्कृति केन्द्र और सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के प्रतिनिधि शामिल थे.