पहला पन्ना > राजनीति > नेपाल Print | Send to Friend | Share This 

प्रचंड और पौडयाल फिर नहीं बन सके पीएम

प्रचंड और पौडयाल फिर नहीं बन सके पीएम

काठमांडू. 23 अगस्त 2010


नेपाल में प्रधानमंत्री पद के चुनाव के लिए माओवादी प्रमुख प्रचंड और नेपाली कांग्रेस उम्मीदवार रामचंद्र पौडयाल पांचवीं बार देश की संसद में सामान्य बहुमत पाने में नाकाम रहे. 238 सदस्यों वाले माओवादियों ने प्रचंड को प्रधानमंत्री बनाने के लिये सारी कोशिशें की लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली.

माओवादियों के दबाव के आगे गत जून में माधव कुमार नेपाल के प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद से नेपाल में राजनीतिक गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. बड़े राजनैतिक दलों सीपीएन-माओवादी, सीपीएन-यूएमएल और नेपाल कांग्रेस में कोई आम समझ नहीं बन सकी है. सोमवार को हुये चुनाव में किसी भी उम्मीदवार को 601 सदस्यीय संसद में अगली सरकार बनाने के लिए आवश्यक बहुमत नहीं मिल पाया.

इससे पहले नेपाल में 22 राजनीतिक संगठनों की बैठक के दौरान घोषणा की थी कि अगर तीन बड़े दल नया प्रधानमंत्री चुनने में विफल रहे तो वे देश में जबर्दस्त प्रदर्शन शुरू करेंगे. उनका तर्क था कि तीन बड़े दलों के हितों की पूर्ति के लिए देश को बंधक बनाना उचित नहीं है.