पहला पन्ना > मुद्दा > अयोध्या Print | Send to Friend | Share This 

अयोध्या फैसला: जस्टिस शर्मा होंगे सम्मानित

अयोध्या फैसला: जस्टिस शर्मा होंगे सम्मानित

अयोध्या. 4 अक्टूबर 2010

 

अयोध्या मामले में फैसला सुनाने वाले जजों में से एक जस्टिस धर्मवीर शर्मा अयोध्या के साधु-संतुओं द्वारा सम्मानित किए जाएंगे. श्रीरामभूमि न्यास और मंदिर निर्माण उच्चाधिकार समिति के सदस्य राम विलास वेदंती ने इस आशय में सूचना दी है कि जस्टिस शर्मा के साथ-साथ फैसला सुनाने वाले दोनों अन्य जजों जस्टिस सुधीर अग्रवाल और जस्टिस एस.यू.खान को भी रिटाय़र होने के बाद सम्मानित जाएगा.

उल्लेखनीय है कि अयोध्या मुद्दे पर अपने फैसले में जस्टिस शर्मा ने सुन्नी वक्फ बोर्ड के यह कह कर खारिज कर दिया था कि इस दावे को समय पर दाखिल नहीं किया गया था. उन्होंने रामजन्मभूमि से जुड़े सवाल पर कहा था कि विवादित जगह भगवान राम की जन्मभूमि ही है. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि मुगल बादशाह बाबर द्वारा बनवाई गई विवादित इमारत का ढांचा इस्लामी कानून के खिलाफ थी और इस्लामी मूल्यों के अनुरूप नहीं थी.

वेदांती ने कहा कि वह अपने साथी साधु-संतों के साथ जाकर जस्टिस शर्मा से मुलाकात करेंगे और संतों की भावनाओं के बारे में बताएंगे. उस बातचीत के दौरान ही सम्मानित करने की तारीख तय की जाएगी. गौरतलब है कि जस्टिस शर्मा अयोध्या विवाद से जुड़े 60 साल पुराने मुकदमे का ऐतिहासिक फैसला देने के एक दिन बाद ही एक अक्टूबर को रिटायर हो गए थे.