पहला पन्ना > राजनीति > पश्चिम बंगाल Print | Send to Friend | Share This 

सीपीएम के 44 लोगों को उम्रकैद

सीपीएम के 44 लोगों को उम्रकैद

कोलकाता. 12 नवंबर 2010


मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के 44 कार्यकर्ताओं को 11 किसानों की हत्या के एक मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. 2000 में सत्तारुढ़ सीपीएम के इन 44 कार्यकर्ताओं पर पश्चिम बंगाल के वीरभूम ज़िले के सचपुर गांव में 11 किसानों को मार डालने का आरोप है. ये किसान तृणमूल कांग्रेस के समर्थक थे.

वीरभूम के सत्र न्यायाधीश ने माना कि सीपीएम के सभी 44 कार्यकर्ताओं ने एक मत हो कर दंगा फैलाया और विरोधी पक्ष तृणमूल कांग्रेस के समर्थक 11 किसानों की हत्या कर दी. अदालत ने आरोपियों को भारतीय दंड संहिता की धारा 148, 149 और 302 के तहत आजीवन कैद की सजा सुनाई.

11 किसानों की हत्या के मामले में 74 लोगों को आरोपी बनाया गया था. अदालत ने इस मामले में 23 लोगों को बरी कर दिया, जबकि 7 आरोपियों की सुनवाई के दौरान ही मौत हो गयी थी.

सीपीएम ने कहा है कि इस मामले के खिलाफ वह उपरी अदालत में अपील करेगी.