पहला पन्ना > राजनीति > दिल्ली Print | Send to Friend 

वामपंथी हताश हैं-कांग्रेस

वामपंथी हताश हैं-कांग्रेस


नई दिल्ली. 5 जुलाई 2008
सरकार के खिलाफ वामदलों की लगातार चेतावनी से परेशान कांग्रेस ने आज वामदलों की जम कर आलोचना करते हुए कहा है कि वामपंथी हताश हैं और उनकी हताशा का कारण समझ में नहीं आ रहा है. कांग्रेस नेता विरप्पा मोइली ने वामदलों की आलोचना करते हुए साफ किया कि सरकार के पास बहुमत है और सरकार खतरे में नहीं है.

वामपंथी मोर्चा ने कहा था कि अगर परमाणु करार के मुद्दे पर विश्वास प्रस्ताव लाया जाता है तो वे इसका विरोध करेंगे. वामदलों ने सरकार से कहा था कि वह बताए कि क्या वह भारत-अमरीका परमाणु मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी से अंतिम चरण की वार्ता करने जा रही है? इसके लिए वामदलों ने 7 जुलाई की तारीख मुकर्रर की थी.

कांग्रेस के मीडिया प्रमुख वीरप्पा मोइली ने आज कहा कि वामपंथी दलों ने जिस तरह से 7 जुलाई तक का अल्टीमेटम सरकार को दिया है, उससे यह साबित होता है कि वे निराश और हताश हैं.

मोइली ने यह भी कहा कि परमाणु करार को लेकर उनकी हताशा इस हद तक है कि वे बातचीत का सामान्य शिष्टाचार भी भूल गए हैं. उन्होंने हमे पत्र देने से पहले पत्र की प्रति मीडिया को जारी की. मोइली ने मुलायम सिंह यादव द्वारा सरकार को परमाणु करार पर समर्थन को सौदेबाजी कहे जाने पर आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी शुरु से ही हमारे साथ है. हालांकि उन्होंने बीच में सरकार से समर्थन लेने की बात कही थी लेकिन उन्होंने राष्ट्रपति को इस बारे में कोई सूचना नहीं दी थी.