पहला पन्ना >राजनीति >बात Print | Share This  

कांग्रेसी मंत्री ने मांगी कश्मीर की आजादी

कांग्रेसी मंत्री ने मांगी कश्मीर की आजादी

जम्मू. 7 दिसंबर 2010


कश्मीर को आज़ाद करने की कांग्रेसी मंत्री की मांग पर राज्य में बवाल शुरु हो गया है. हालांकि कांग्रेस ने कहा है कि यह मंत्री की व्यक्तिगत राय है और इसे पार्टी की राय नहीं माना जाना चाहिये लेकिन भाजपा कश्मीर की आज़ादी की मांग करने वाले मंत्री की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ी हुयी है.

ज्ञात रहे कि जम्मू-कश्मीर के कांग्रेसी मंत्री श्याम लाल शर्मा ने कहा है कि कश्मीर को आज़ादी दिया जाना चाहिये. उन्होंने राज्य के कठुआ में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुये कहा था कि कश्मीर की समस्या का एकमात्र हल यही है कि कश्मीर को आज़ाद कर दिया जाये. इसके अलावा जम्मू को अलग राज्य का दर्जा और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाया जाना चाहिये.

पीसीसी प्रमुख सैफुद्दीन सोज की उपस्थिति में राज्य के स्वास्थ मंत्री श्याम लाल शर्मा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का यह हल राज्य और देश के हक़ में होगा. शर्मा ने कहा था कि कश्मीर केंद्रित रुख से बाहर निकलने की जरूरत है. मैंने कांग्रेस से कहा है कि अगर आप कश्मीर के लिए स्वायत्तता या स्व शासन चाहते हैं तब आपको जम्मू को एक अलग राज्य तथा लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने की जरूरत है. जनसभा में शर्मा ने साफ किया था कि आप वृहद स्वायत्ता की बात करते हैं तो आपको पहले क्षेत्रीय स्वायत्ता देनी होगी. बहुत अधिक क्षेत्रीय असुंतलन है और इसे दूर किये जाने की जरूरत है.

शर्मा के इस बयान से नाराज भाजपा ने कहा है कि मंत्री श्याम लाल शर्मा को तत्काल पद से हटाया जाये और उन्हें गिरफ्तार किया जाये. दूसरी ओर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि यह मंत्री की व्यक्तिगत राय है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय संविधान के फ्रेमवर्क के तहत कश्मीर को स्वायत्तता दी जा सकती है.