पहला पन्ना >मुद्दा >दिल्ली Print | Share This  

जज बनने की कोशिश न करें टाटा

जज बनने की कोशिश न करें टाटा

नई दिल्ली. 9 दिसंबर 2010


भाजपा ने कहा है कि रतन टाटा जज बनने की कोशिश न करें. वे महान उद्योगपति हो सकते हैं लेकिन वे जज या जेपीसी नहीं हैं.

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर रतन टाटा के उस पत्र पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे, जिसमें रतन टाटा ने सांसद चंद्रशेखर को लिखे खुले पत्र में खरी-खोटी सुनाई है. उद्योगपति चंद्रशेखर के पत्र का जवाब देते हुये रतन टाटा ने लिखा था कि टेलिकॉम क्षेत्र में कई गड़बड़ियां बीजेपी के शासन के दौरान हुईं.

टाटा के इस बयान से नाराज भाजपा प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि टाटा को याद रखना चाहिए कि वह एक उद्योगपति हैं और उनकी एक टेलिफोन कंपनी है जिसे यूपीए शासनकाल के दौरान काफी फायदा पहुंचा है.

इधर टाटा-भाजपा विवाद के बीच कांग्रेस नेता और दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि टाटा का यह बयान विपक्ष को बेनकाब करने वाला है. सिब्बल ने कहा कि टाटा के पास पुख्ता जानकारियां होंगी, तभी उन्होंने यह बयान दिया है.