पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

खय्याम, सत्यदेव दुबे समेत 128 को पद्म पुरस्कार

खय्याम, सत्यदेव दुबे समेत 128 को पद्म पुरस्कार

नई दिल्ली. 25 जनवरी 2011


राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने 2010 के लिए पद्म पुरस्कारों को मंजूरी दे दी है. कुल 128 पद्म पुरस्कारों में से 13 को पद्म विभूषण, 31 को पद्म भूषण और 84 को पद्मश्री से सम्मानित किया गया है. इनमें 31 महिलाएं शामिल हैं. पुरस्कारों और उन्हें हासिल करने वालों की सूची इस प्रकार है:

पद्म विभूषण
1. डा़ श्रीमती कपिला वात्स्यायन (कला और प्रशासन)
2. ए नागेश्वर राव (सिनेमा)
3. मोंटेक सिंह अहलूवालिया (पब्लिक अफेयर्स)
4. अजीम प्रेमजी (उद्योग)
5. ब्रजेश मिश्र (सिविल सर्विसेज)
6. श्रीमती होमई व्यारावाला (फोटोग्राफी)
7. प्रसन्ना केशव अयंगर (पब्लिक अफेयर्स)
8. डा अखलाक उर रहमान किदवई (पब्लिक अफेयर्स)
9. विजय केलकर (पब्लिक अफेयर्स)
10. पल्ले रामा राव (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग)
11. प्रोफेसर ओट्टपलक्कल नीलकनंदन वेलु कुरूप (साहित्य एवं शिक्षा)
12. डा सीताकांत महापात्र (साहित्य एवं शिक्षा)
13. दिवंगत एल सी जैन (पब्लिक अफेयर्स)

पद्म भूषण
1. शशि कपूर (फिल्म)
2. सत्यदेव दुबे (रंगमंच)
3. वहीदा रहमान (फिल्म)
4. खय्याम (फिल्म संगीत)
5. दिवंगत दशरथ पटेल (कला)
6. कृष्ण खन्ना (पेंटिंग)
7. मदावुर वासुदेवन नायर (नृत्य कथकली)
8. रूद्रपतना कृष्णा शास्त्री श्रीकांतन (गायन)
9. सुश्री अर्पिता सिंह (पेंटिंग)
10. डा श्रीपति पी बालासुब्रहमण्यम (पार्श्व गायन, संगीत, निर्देशन, अभिनय)
11. सी वी चंद्रशेखर (शास्त्रीय नृत्य भरतनाटयम)
12. द्विजेन मुखर्जी (कला)
13. श्रीमती राजश्री बिडला (सामाजिक सेवा)
14. श्रीमती शोभना रानाडे (सामाजिक सेवा)
15. डा सूर्यनारायण रामचंद्रन (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग)
16. एस गोपालकृष्णन (व्यापार एवं उद्योग)
17. योगेश चंद्र दवेश्वर (व्यापार एवं उद्योग)
18. सुश्री चंदा कोचर (व्यापार एवं उद्योग)
19. डा के अंजी रेड्डी (व्यापार एवं उद्योग)
20. अनलजीत सिंह (व्यापार एवं उद्योग)
21. राजेन्द्र सिंह पवार (व्यापार एवं उद्योग)
22. डा गुनापति वेंकटा कृष्णा रेड्डी (व्यापार एवं उद्योग)
23. अजय चौधरी (व्यापार उद्योग)
24. सुरेन्द्र सिंह (सिविल सेवा)
25. एम एन बुच (सिविल सेवा)
26. श्याम सरन (सिविल सेवा)
27. थाइज जेकब सोनी जार्ज (साहित्य शिक्षा)
28. रामदास माधव पई (साहित्य शिक्षा)
29. सांखा घोष (साहित्य शिक्षा)
30. दिवंगत के राघवन थिरूमुलपद (आयुर्वेद)
31. दिवंगत डा केकी बईरामजी ग्रांट (कार्डियोलाजी)

पदमश्री
1. काजोल (फिल्म)
2. इरफान खान (फिल्म)
3. ऊषा उथुप (संगीत)
4. वीवी एस लक्ष्मण (क्रिकेट)
5. सुशील कुमार (कुश्ती)
6. तब्बू (सिनेमा)
7. कृष्णा पूनिया (चक्का फेंक)
8. नीलम मानसिंह चौधरी (रंगमंच)
9. मकरध्वज दरोगा (छाउ नृत्य)
10. शाजी नीलकंटन करूण (फिल्म निर्देशन)
11. गिरीश कासरावल्ली (फिल्म निर्माण)
12. जीव्य सोमा मासे (वार्ली पेटिंग)
13. सुश्री एम के सरोजा (भारतनाट्यम)
14. जयराम सुब्रहमण्यम (सिनेमा)
15. पंडित अजय चक्रवर्ती (भारतीय शास्त्रीय गायन)
16. श्रीमती महासुंदरी देवी (मधुबनी पेंटिंग)
17. गजम गोवर्धन (हथकरघा बुनाई)
18. सुश्री सुनयना हजारीलाल (कथक)
19. एस आर जानकीरमण (कर्नाटक गायन)
20. पेरूवनम कुट्टन मरार (ड्रम कंसर्ट)
21. श्रीमती कलामंडलम के पवित्रन (नृत्य मोहिनीअट्टम)
22. दादी दोराब पदमजी (कठपुतली कला)
23. के मांगी सिंह (मणिपुरी संगीत)
24. प्रहलाद सिंह तिपानिया (लोक संगीत)
25. ममराज अग्रवाल (सामाजिक सेवा)
26. जाकिन अरपुत्थम (सामजिक सेवा)
27. सुश्री नमिता चांडी (सामाजिक सेवा)
28. सुश्री शीला पटेल (सामाजिक सेवा)
29. सुश्री अनीता रेड्डी (सामाजिक सेवा)
30. कानूभाई हंसमुखभाई टेलर (सामाजिक सेवा)
31. प्रोफेसर एम अन्नामलाई (विज्ञान इंजीनियरिंग)
32. डा महेश हरिभाई मेहता (विज्ञान इंजीनियरिंग कृषि)
33. कोयंबतूर नारायण राव राघवेन्द्रन (विज्ञान इंजीनियरिंग)
34. श्रीमती सुमन सहाय (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग)
35. प्रोफेसर ई ए सिद्दीक (विज्ञान एवं इंजीनियरिंग)
36. गोपालन नारायण शंकर (विज्ञान इंजीनियरिंग)
37. मक्का रफीक अहमद (व्यापार उद्योग)
38. कैलासम राघवेन्द्र राव (व्यापार उद्योग)
39. नारायण सिंह भाटी (सिविल सेवा)
40. पी के सेन (सिविल सेवा)
41. सुश्री शीतल महाजन (खेल पैराजम्पिंग)
42. सुश्री एन कुंजारानी देवी (भारोत्तोलन)
43. गगन नारंग (शूटिंग)
44. हरभजन सिंह (पर्वतारोहण)
45. पुखराज बाफना (चिकित्सा)
46. प्रो मंसूर हसन (चिकित्सा)
47. डा श्याम प्रसाद मंडल (चिकित्सा)
48. प्रो शिवापाथम विट्टल (चिकित्सा)
49. प्रो मदनूर अहमद अली (चिकित्सा)
50. डा इंदिरा हिन्दुजा (चिकित्सा)
51. डा जोस चाको पेरियाप्पुरम (चिकित्सा)
52. प्रो ए एम पिल्लै (चिकित्सा)
53. माहिम बोरा (साहित्य शिक्षा)
54. प्रो पुलेला श्रीराम चंद्रूदू (साहित्य शिक्षा)
55. प्रवीण गार्गी (साहित्य शिक्षा)
56. डा चंद्र प्रकाश देवल (साहित्य शिक्षा)
57. बलराज कोमल (साहित्य शिक्षा)
58. श्रीमती रजनी कुमार (साहित्य शिक्षा)
59. डा देवानूरू महादेवा (साहित्य शिक्षा)
60. वरूण मजूमदार (साहित्य शिक्षा)
61. अव्वाई नटराजन (साहित्य शिक्षा)
62. बालाचंद्र नेमादे (साहित्य शिक्षा)
63. प्रो रियाज पंजाबी (साहित्य शिक्षा)
64. प्रो कोनेरू रामकष्ण राव (साहित्य शिक्षा)
65. सुश्री बुआंगी साइलो (साहित्य शिक्षा)
66. प्रो देवीदत्त शर्मा (साहित्य शिक्षा)
67. नीलांबर देवशर्मा (साहित्य शिक्षा)
68. अनंत दर्शन शंकर (पब्लिक अफेयर्स)
69. सुश्री उर्वशी भूटिया (साहित्य शिक्षा)
70. प्रो कृष्ण कुमार (साहित्य शिक्षा)
71. देवी प्रसाद द्विवेदी (साहित्य शिक्षा)
72. सुश्री ममांग दई (साहित्य शिक्षा)
73. ओम प्रकाश अग्रवाल (हैरिटेज संरक्षण)
74. मधुकर केशब धवालिकर (पुरातत्व)
75. सुश्री शांति टेरेसा लाकरा (नर्सिंग)
76. गुलशन नंदा (हथकरघा प्रोत्साहन)
77. आजाद मूपेन (समाज सेवा)
78. प्रो उपेन्द्र बक्शी (पब्लिक अफेयर्स)
79. मणिलाल भौमिक (विज्ञान इंजीनियरिंग)
80. सुब्रा सुरेश (विज्ञान इंजीनियरिंग)
81. प्रो कार्ल हैरिंगटन (साहित्य शिक्षा)
82. मार्था चेन (समाज सेवा)
83. सतपाल खट्टर (व्यापार उद्योग)
84. ग्रानविले आस्टिन (शिक्षा साहित्य)

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Swami Swadeshanand [kanakdharamata@gmail.com] Gangtok, Sikkim

 
  जिसने महिनों मेहनत कर धान,गेहूँ,दाल और तमाम खाने योग्य पदार्थों की रचना की क्या वह रचनाकार नहीं है? जिसने तपती धूप और कड़ाके की सर्दी में भी अपनी रचना को निर्माण करने का काम बन्द नहीं किया। जिसने हिमालय से समुद्र तक की हिन्दुस्तानी धरती को हरा-भरा और सुवर्णमय बनवाया वह किसान कवि और कलाकारों की काल्पनिक दुनियां से लाखों गुणा श्रेष्ठ है, फिर भी देश की सरकार इनको नहीं, कवि और कलाकारों को पद्मश्री और पद्मभूषण जैसे पुरस्कार देती है। जिनको 2010 के लिए सरकार ने पुरस्कृत किया है शायद वे भी किसान का ही उत्पादन खाते होंगे। सरकार किसानों को भी उनके उत्पादन और मेहनतों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित करे तभी देश गणतान्त्रिक होगा। देश का एक गरीब किसान और अन्य सभी क्षेत्रों के लोग समान दीखेंगे। किसान लज्जित है अन्य पुरस्कृत और प्रशंसित हैं।  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in