पहला पन्ना > राज्य > गोरखालैंड Print | Send to Friend 

सुभाष घीसिंग की सुरक्षा बढ़ी

सुभाष घीसिंग की सुरक्षा बढ़ी

नई दिल्ली, 26 जुलाई 2008.
गोरखा जनमुक्ति मोर्चा की एक महिला सदस्य की हत्या के बाद गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट के प्रमुख सुभाष घीसिंग की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. घीसिंग पर फिर से संभावित हमले के मद्देनजर शनिवार को सुरक्षा कारणों से उन्हें दार्जिलिंग से सिलिगुड़ी स्थानांतरित कर दिया गया है.

ज्ञात रहे कि बिमल गुरुंग की गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने अपनी सदस्या की हत्या का आरोप सुभाष घीसिंग पर लगाया है और घीसिंग को तत्काल दार्जिलिंग छोड़ने की चेतावनी दी थी. गोरखा जनमुक्ति मोर्चा की महिला शाखा की सदस्य प्रमिला शर्मा की हत्या के बाद से ही पहाड़ के इलाके में तनाव का वातावरण बना हुआ है. दार्जिलिंग के अधिकांश इलाके शुक्रवार के बाद से ही बंद हैं.

अलग गोरखालैंड बनाए जाने की मांग को लेकर पिछले साल से गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने आंदोलन छेड़ रखा है और इस पूरे आंदोलन में सुभाष घीसिंग को गोरखालैंड के साथ धोखाघड़ी करने वाला नेता ठहराया गया है और इलाके में उनका लगातार विरोध हो रहा है.