पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

रेल भाड़ा नहीं बढ़ेगा

रेल भाड़ा नहीं बढ़ेगा

नई दिल्ली. 25 फरवरी 2011


रेल मंत्री ममता बनर्जी ने साल 2011-12 के रेल बजट में भाड़ों में किसी तरह की बढ़ोतरी नहीं की है. शुक्रवार को रेल बजट पेश करते हुये उन्होंने कहा कि वो रेल के ज़रिए एक सामाजिक क्रांति की बुनियाद रखना चाहती हैं जिसे प्रधानमंत्री रेलवे विकास योजना का नाम दिया जाएगा.

उन्होंने कहा है कि रेल तक ग़रीबों की पहुंच बढ़ाने के काफ़ी प्रयास किए जाएंगे और जो भी परियोजनाएं हैं सभी प्रधानमंत्री रेल विकास योजना के अंतर्गत आएंगे. रेल मंत्री ने कहा है कि भारतीय रेल आर्थिक चुनौतियों के साथ सामाजिक ज़िम्मेदारियों पर भी ध्य़ान देने की कोशिश कर रही है.

उन्होंने कहा है कि इस वित्तीय वर्ष के लिए रेल की वार्षिक योजना 57,630 करोड़ रूपए की है. इसमें नई रेल लाईन बिछाने के लिए 9,853 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे. ममता बनर्जी ने कहा है कि इस साल ऐसी नीतियों पर ध्यान दिया जा रहा है जिनसे व्यापार में बढ़ोतरी हो. उन्होंने बड़े शहरों ख़ासकर मुंबई, चेन्नई, अहमदाबाद, हैदराबाद और कोलकाता के लिए एक इंटीग्रेटेड सब-अर्बन रेल तंत्र की स्थापना की भी बात की.

उन्होंने कोलकाता में सिंगुर के पास कोलबा में एक मेट्रो कोच फ़ैक्ट्री, चेलिंघम, नंदीग्राम और न्यू बोंगाईगांव में रेल फ़ैक्ट्री और मणिपुर में एक डीज़ल लोकोमोटिव प्लांट की स्थापना करने की भी घोषणा की. इस बजट के तहत जम्मू-कश्मीर में एक रेल ब्रिज फ़ैक्ट्री बनाने की भी योजना है.

रेल बजट बिंदुवार
2012 तक मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग खत्म करने का ऐलान.

एसी और नॉन एसी क्लास टिकट पर ऑनलाइन बुकिंग में लगने वाला चार्ज घटा.

एसी क्लास की बुकिंग 10 रुपये और नॉन एसी क्लास के लिए बुकिंग 5 रुपये सस्ती.

खिलाड़ियों को नौकरी देने के लिए रेलवे में स्पोर्ट्स कैडर बनेगा.

आगरा में अंतरराष्ट्रीय केंद्र की स्थापना करेगा रेलवे.

भारत और बांग्लादेश के बीच सांस्कृतिक साझेदारी के प्रतीक के तौर पर एक ट्रेन चलाई जाएगी.

रेलवे इस साल 16 हजार भूतपूर्व सैनिकों को नौकरी देगा.

नई रेल लाइन बिछाने की क्षमता बढ़ाकर 700 किलोमीटर किए जाने का ऐलान.

वित्त वर्ष 2011-12 के लिए 57630 करोड़ रुपये का रेल बजट.

आमान परिवर्तन (ट्रैक के बदलाव) पर खर्च को दोगुना करने की घोषणा.

3 और डिवीजनों में रेल गाड़ियों में एंटी कॉल्यूजन डिवाइस लगाई जाएगी.

ममता बनर्जी के मुताबिक इस साल के लिए बजटीय सहायता 20 हजार करोड़ रुपये.

नई रेल लाइन बिछाने में 9853 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे.

रेलवे के लिए यह 'स्वच्छ ऊर्जा' का साल होगा.

रेल यात्री सेवा के तहत कुलियों को मिलेगी ट्रॉली.

रायबरेली कोच फैक्ट्री से अगले तीन महीने में कोच का उत्पादन शुरू हो जाएगा.

जम्मू-कश्मीर में रेल पुल बनाने की फैक्ट्री लगाई जाएगी.

मणिपुर में डीजल लोकोमोटिव कारखाने की स्थापना होगी.

मणिपुर को रेल लाइन से जोड़ा जाएगा.

कोलकाता में मेट्रो कोच फैक्ट्री.

नंदीग्राम (पश्चिम बंगाल) में रेल इंडस्ट्रियल पार्क की स्थापना होगी.

सिंगूर में मेट्रो कोच फैक्ट्री की स्थापना.

पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत 85 प्रस्ताव विचाराधीन.

महाराष्ट्र के ठाकुरली में गैस आधारित पावर प्लांट की स्थापना होगी.

पलक्कड़ (केरल) में रेल कोच फैक्ट्री की स्थापना.

छठे वेतन आयोग की वजह से रेलवे पर 76 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार.