पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

आमिर खान ने लिखी पीएम को चिट्ठी

आमिर खान ने लिखी पीएम को चिट्ठी

नई दिल्ली. 7 अप्रैल 2011


लोकप्रिय अभिनेता आमिर खान ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर जन लोकपाल पर विचार करने का अनुरोध किया है. आमिर खान ने अन्ना हजारे द्वारा लोकपाल बिल के मुद्दे पर किये जा रहे आमरण अनशन का समर्थन करते हुये कहा है कि मैं उन लाखों लोगों में से एक हूं जो यह समझते हैं कि भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए कड़े कदम उठाने की आवश्यक्ता है. आमिर खान के पत्र का मजमून कुछ इस तरह है-

सेवा में
माननीय भारत के प्रधानमंत्री
मनमोहन सिंह
7 रेस कोर्स, नई दिल्ली.

श्रीमान,

पिछले कई दिनों से मीडिया के माध्यम से मैं श्री अन्ना हजारे के आमरण अनशन के बारे में सुन रहा हूं जो कि 5 अप्रैल को शुरु हो गया है.

मैंने पिछले कुछ दिनों में उन मुद्दों को समझने की कोशिश की है जिन्हें लेकर श्री अन्ना हजारे लड़ाई लड़ रहे हैं.

मैंने मीडिया द्वारा उपलब्ध कराए गए सरकार के प्रस्तावित लोकपाल बिल के ड्राफ्ट को भी पढ़ा है. इंटरनेट के जरिए मैंने लोकपाल बिल के उस ड्राफ्ट को भी पढ़ा है जिसी जिसे जनसमुदाय के कुछ सदस्यों ने तैयार किया है.

मैं आपसे सादर यह कहता हूं कि मैंने जो सामग्री पढ़ी है उससे यह समझ में आता है कि श्री हजारे जो कह रहे हैं वो सही है.

मैं इस देश के एक अरब से अधिक लोगों में से एक हूं और किसी भी अन्य भारतीय की तरह भ्रष्टाचार से मुझ पर भी नकारात्मक असर पड़ता है. पिछले कुछ महीनों में जनमानस को हिला देने वाले घोटाले सामने आए हैं. सच तो यह है कि पिछले कुछ दशकों से हमारा समाज भ्रष्टाचार के दंश को झेल रहा है. मैं उन लाखों लोगों में से एक हूं जो यह समझते हैं कि भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है.

मुझे इस बात पर कोई शक नहीं है कि आप जैसे अनुभव और बुद्धि वाला व्यक्ति भ्रष्टाचार के मुद्दे को मुझसे या किसी और से बेहतर समझता है. मुझे इस बात में भी कोई शक नहीं है कि आप हमारे समाज को साफ सुधरा करने के लिए किसी भी कदम को उठाने में हिचकेंगे.

मैं बड़ी उम्मीद से आपसे यह विनती कर रहा हूं कि आप श्री हजारे की बात सुने. मैं आपसे से यह कहना चाहता हूं कि देश धीरे-धीरे श्री हजारे के पीछे इकट्ठा हो रहा है और वो जो कर रहे हैं उसका समर्थन कर रहा है. मैं उन हजारों में से सिर्फ एक हूं जो पूर्ण रूप से श्री हजारे का समर्थन करते हैं और इस बात का सम्मान करते हैं कि एक 72 वर्षीय व्यक्ति देश से भ्रष्टाचार मिटाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा रहा है.

हमें आपसे बहुत उम्मीदें हैं श्रीमान

सादर
आमिर खान